Patrika Hindi News

> > > > The team is coming off the copy

होशियार! टीम आ रही है, बंद कर दें नकल

Updated: IST GNM examination
जीएनएम परीक्षा में नकल रोकने के लिए जिला प्रशासन की टीम को मात देने के लिए दलाल निगरानी कर रहे हैं। टीम के कॉलेज पहुंचने के एक से दो किलोमीटर पहले ही फोन कर कॉलेजों को होशियार किया जा रहा है।

ग्वालियर. जीएनएम परीक्षा में नकल रोकने के लिए जिला प्रशासन की टीम को मात देने के लिए दलाल निगरानी कर रहे हैं। टीम के कॉलेज पहुंचने के एक से दो किलोमीटर पहले ही फोन कर कॉलेजों को होशियार किया जा रहा है। यही वजह है कि गुरुवार को केएस, दयाल नर्सिंग कॉलेज सहित अन्य कॉलेजों में तहसीलदारों के चैकिंग करने पहुंचने से पहले ही सब कुछ दुरुस्त मिला। लेकिन अवध माधव नर्सिंग कॉलेज में नायब तहसीलदार की रिपोर्ट के बाद भी नकल का सिलसिला जारी है। यहां चिट से नकल कराई जा रही है। वहीं अन्य कॉलेजों में बोलकर नकल हो रही है।
11 परीक्षा सेंटरों पर 22 पर्यवेक्षक नकल रोकने के लिए तैनात किए गए हैं, इसके बाद भी नकल का सिलसिला जारी है। जिला प्रशासन की टीम के पहुंचने पर नकल होने के सबूत मिटा दिए जाते हैं। परीक्षा सेंटरों पर बैठक व्यवस्था को लेकर भी नियमों को ताक पर रखा जा रहा है।

एक बैंच पर दो छात्र
नियम के तहत एक बैंच पर एक छात्र को बैठाया जाना चाहिए। लेकिन नर्सिंग कॉलेजों में दो छात्र एक बैंच पर बैठकर परीक्षा दे रहे हैं। बैंच बड़ी होने की बात कहकर मामले को दबाया जा रहा है। टीम के निरीक्षण कर जाने के बाद परीक्षार्थी पास आकर नकल करने लगते हैं। पर्यवेक्षक की मौजूदगी के बाद भी कई कॉलेज खुलेआम बोलकर नकल करा रहे हैं।

व्यवस्था दुरुस्त नजर आईं
-हमने दो कॉलेजों का निरीक्षण किया, वहां व्यवस्था दुरुस्त नजर आई। अन्य टीमें भी निरीक्षण करने पहुंची थीं।
भूपेन्द्र सिंह कुशवाह, तहसीलदार

अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे