Patrika Hindi News

यूनिवर्सिटी अधिकारियों को देना होगा लैपटॉप और कम्प्यूटर का हिसाब

Updated: IST ju gwalior
टाइम लिमिट बैठक में कुलपति प्रो. शुक्ला ने जारी किए निर्देश, फरवरी तक टला जीवाजी विश्व विद्यालय का दीक्षांत समारोह।

ग्वालियर। जीवाजी यूनिवर्सिटी (जेयू) में सभी अधिकारी और डिपार्टमेंट हेड को लैपटॉप और कम्प्यूटर की जानकारी उपलब्ध करानी होगी। इस डाटा का मिलान स्टोर विभाग के स्टॉक रजिस्टर से किया जाएगा। ताकि वर्तमान स्थिति में रिकॉर्ड की असल स्थिति का पता लगाया जा सके। यह निर्णय कुलपति प्रो.संगीता शुक्ला की अध्यक्षता में शुक्रवार को हुई टाइम लिमिट (टीएल) बैठक में लिया गया।

इधर 16 जनवरी से होने वाला दीक्षांत समारोह अतिथियों की डेट न मिलने के कारण फरवरी तक टल गया है। बैठक में आधा दर्जन कर्मचारियों को अनुपस्थित होने का दोषी पाते हुए कारण बताओ नोटिस जारी किया है। इस दौरान वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग हॉल के टेंडर पर चर्चा की गई।

यह भी पढें- ईसी बैठक के दौरान बीपी हाई होने से रजिस्ट्रार हुए पसीना-पसीना, यह है मामला

बायोमैट्रिक के लिए जमा होंगे आधार

जेयू में बायोमैट्रिक हाजिरी व्यवस्था को सुचारू रूप से चालू करने के लिए सभी अधिकारियों सहित कर्मचारियों से आधार और फोटो एकत्रित किए जाएंगे। ताकि सिस्टम को जल्द से जल्द शुरू किया जा सके। उल्लेखनीय है कि इस मामले को लेकर पिछले दिनों अधिकारी और कर्मचारी आमने-सामने आ गए थे।

यह भी पढें- Peon की पोस्ट के लिए पहुंचे ऐसे लोग जिनके बारे में जानकार आप भी चौंक जाएंगे

चार्ज को लेकर असमंजस जारी

जेयू में एफसी के चार्ज को लेकर असमंजस जारी है। शुक्रवार को पूर्व एफसी अजय शर्मा ने नए एफसी महक सिंह से बात कर उन्हें केबिन की चाबी जरूर सौंप दी, लेकिन रिलीविंग उन्होंने रिलीविंग लेटर स्वीकार नहीं किए हैं। इधर महक सिंह का कहना है कि जब तक जेयू नोटिफिकेशन जारी नहीं करेगा तब तक वे किसी भी फाइल पर साइन नहीं करेंगे। मामले पर रजिस्ट्रार डॉ.आनंद मिश्रा का कहना है कि महक सिंह अपना कार्य कर सकते हैं, उन्हें इसके लिए किसी नोटिफिकेशन की जरूरत नहीं है।

CLICK HERE-

इधर, अब अलग पन्ने पर नहीं चार्ट में सीधे होंगे करेक्शन:

जीवाजी यूनिवर्सिटी (जेयू) में चार्ट के अलग-अलग पन्नों पर होने वाले करेक्शन पर अनियमितताओं की शिकायत आने के बाद प्रबंधन ने रोक लगा दी है। नई व्यवस्था के तहत अब चार्ट में सीधे करेक्शन करने होंगे। विषय के हिसाब से कर्मचारीयों की जिम्मेदारी तय की जाएगी।

सूत्रों के अनुसार वर्तमान व्यवस्था में चार्ट के पन्नों को कई हिस्सों में बांट दिया जाता है। कुछ कर्मचारी अधिकारियों के इशारे पर अपने हिसाब से चार्ट के अंकों मेें परिवर्तन कर कुलपति प्रो.संगीता शुक्ला के साइन करा लेते। लेकिन पिछले दिनों शिकायत के बाद कुलपति ने इस व्यवस्था पर रोक लगा दी। लेकिन इसके बाद भी काम जारी रहा। वर्तमान में नए एआर परीक्षा और गोपनीय ने वही गलती पकड़ ली। उन्होंने परीक्षा नियंत्रक डॉ.राकेेश कुशवाह से व्यवस्था परिवर्तन के लिए कहा, जिस पर परीक्षा नियंत्रक ने मोहर लगा दी।

यह भी पढें- रजिस्टर में लिखना होगा दिन और तारीख, जानिये कहां से मिलेंगे परीक्षा के पेपर

जेयू कर्मचारियों का संघर्ष जारी

जेयू में नियमितीकरण के लिए कर्मचारियों का आंदोलन जारी है। वे सुबह 10 बजे से 11.30 तब अपना प्रदर्शन करते हैं। यह प्रदर्शन 23 जनवरी तक चलेगा। इसके बाद स्थाई आंदोलन शुरू किया जाएगा। सूत्रों की मानें तो अधिकारियों का आश्वासन उन्हीं हो भारी पड़ सकता है। कर्मचारियों को आशा है कि जिस पर भोपाल की बीयू में स्थाईकरण की प्रक्रिया पूरी होने वाली है, उसी तरह यहां भी हो। फिलहाल अधिकारी इस मामले में कुछ भी कहने से बच रहे हैं।

यह भी पढें- स्टूडेंट्स ने स्कूल में प्रिंसीपल को बना लिया बंधक, जानिये क्यों?

'अब चार्टों में करेक्शन सीधे होगा। अलग से पन्नों में करेक्शन कर चार्ट में नहीं जोड़े जाएंगे। मैंने परीक्षा नियंत्रक को मामले से अवगत करा दिया है। जल्द ही व्यवस्था बदल दी जाएगी।'

- अभयकांत मिश्रा, एआर,जेयू

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???