Patrika Hindi News

> > > > training of bsf commandos at tekanpur

बीएसएफ के कमांडो चुन-चुनकर उड़ा रहे हैं टार्गेट, जानिये कैसे?

Updated: IST BSF commandos
उग्रवाद में सबसे ज्यादा प्रभावी कार्रवाई कमांडो ही करते हैं। इसी के चलते बीएसएफ अपने कमांडोज को समय-समय पर ट्रेंड करता रहता है। टेकनपुर गांव में 242 कमांडोज की 11 टीमें दिन-रात जुटीं हुई है।

ग्वालियर। एक तरफ जहां उरी में हुए हमले के बाद से भारतीय व पाक सीमा में तनाव बना हुआ है। जिसके चलते युद्ध होने की संभावनाएं भी प्रबल होती दिख रही हैं। वहीं बार्डर सिक्युरिटी फोर्स यानि बीएसएफ के बेहतरीन कमांडोज इन दिनों ग्वालियर के पास टेकनपुर गांव में एकत्र हुए हैं।
ये कमांडोज यहां 4 दिन तक ट्रेनिंग कर अपने को और बेहतर बनाने की कोशिश कर रहे हैं। अभी यहां 242 कमांडोज की 11 टीमें दिन-रात ऑपरेशन करके दुश्मनों को अचूक तरीके से चून-चूनकर मार रही है। और टार्गेटों को नेस्तनाबूत कर रहे हैं।

कमांडो प्रतियोगिता का हिस्सा है ये लड़ाई.....
दरअसल टेकनपुर में बीएसएफ अकादमी और देश का सबसे पुराना कमांडो ट्रेनिंग स्कूल है। इस स्कूल से 17 हजार से ज्यादा कमांडोज ट्रेनिंग लेकर निकल चुके हैं। अब इसी स्कूल में बार्डर पर तैनात बीएसएफ के बेहतरीन कमांडोज आपस में स्पर्धा कर रहे हैं। इसी कंपटीशन में हिस्सा लेकर ये कमांडोज अपने को और बेहतर साबित करने में जुटे हुए हैं।

विशेषज्ञों व बीएसएफ के अधिकारियों के अनुसार उग्रवाद में सबसे ज्यादा प्रभावी कार्रवाई कमांडो ही करते हैं। इसी के चलते बीएसएफ अपने कमांडोज को समय-समय पर ट्रेंड करता रहता है। हर साल इसी प्रकार का कंपटीशन बीएसएफ के कमांडोज के लिए आयोजित होते हंै।

यह होते है टास्क
इस स्पर्धा में कमांडो को दुश्मन के ठिकानों को खोजकर उसे बर्बाद करना होता है। इसके लिए वे खुफिया सूचना से लेकर ठिकाने तक पहुंचने की बाधाओं को पार करके पहुंचते हैं। वहीं एक कमांडो पलक झपकते ही दुश्मन पर ऐसे हमला बोलता है, कि उसे अहसास नहीं हो पाता। जब तक वह समझ पाता है तब तक या तो गिरफ्त में होता है या फिर मार दिया जाता है।

चार चरण की होती है स्पर्धा
यह प्रतियोगिता चार चरणों में पूरी होती है। पहले चरण में ब्रीफिंग, दूसरे चरण में कॉफीडेंस कोर्स, तीसरे चरण में फायरिंग और चौथे चरण में स्माल टीम ऑपरेशन किया जाता है।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे