Patrika Hindi News

वैशाख के गणगौर उत्सव में यहां हो रही रनुबाई-धनियर राजा की उपासना

Updated: IST Ganagaur utsav
गणगौर गीतों पर झालरे दे रहीं मंडलियां, स्वांग भी रचे

हरदा। भुआणा अंचल में शुक्रवार से वैशाख के गणगौर उत्सव की शुरुआत हुई। इस मौके पर खड़ा स्थापना (ज्वारे बोना) की गई। अंचल में नौ दिन तक उत्सव की धूम रहेगी। श्रद्धालु रनुबाई और धनियर राजा की भक्ति करेंगे। शहर के एलआईजी कॉलोनी में गणगौर उत्सव का आयोजन किया गया है। इसके अलावा पानतलाई, सामरधा (टिमरनी), बारजा, आलमपुर आदि गांव में भी देवी की आराधना शुरू हो गई है।

Ganagaur utsav

आलमपुर में श्रद्धालु महिलाओं ने नर्मदा स्नान किया। इसके बाद शुक्रवार सुबह वे होलिका दहन के स्थान पर पहुंचीं। वहां पूजन के बाद ज्वारे बोए गए। नौ दिनों तक बंद कमरे में सेवामाय (सेविका) इनका पूजन अर्चन करेंगी। दिन में महिलाएं आम के पेड़ के नीचे पाती खेलने जाएंगी। गणगौर उत्सव के लिए पांडालों को भव्य सजाया गया है। यहां रोज राज में आसपास की मंडलियां गणगौर गीतों पर झालरे देंगी। वहीं स्वांग भी रचे जाएंगे। खिरकिया ब्लॉक के 10 से ज्यादा गांवों में उत्सव की शुरुआत हुई है। आनंद नगर में राधेश्याम पगारे गुरुजी, छीपावड़ में सुरेन्द्रसिंह चौहान, कुड़ावा में द्वितीय पंढरपुर धाम गुरु दरबार मे सार्वजनिक गणगौर उत्सव समिति, पोखरनी में पूर्व सरपंच भारतसिंह कुशवाह परिवार ने गणगौर उत्सव आयोजित किया है।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???