Patrika Hindi News

विद्यार्थियों को क्यों नहीं मिल रही हाईस्कूल भवन की सुविधा, जानें कारण

Updated: IST students
-सैकड़ों विद्यार्थियों को दी जानी है सुविधा, निर्माण शुरू नहीं होने परेशानी

खिरकिया. विकासखंड में जमीन आवंटन आदेश नहीं होने से हाईस्कूल भवन निर्माण अटक गए हैं। विद्यार्थियों को हाईस्कूल स्तर की पढ़ाई करने कई किलोमीटर का सफर तय करना पड़ रहा है। जानकारी के अनुसार राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा अभियान के अंतर्गत विकासखंड के जटपुरामाल में हाईस्कूल का निर्माण किया जाना है। इसके लिए शासन द्वारा राशि भी स्वीकृत कर दी गई है। ग्राम पंचायत एवं विभाग के माध्यम से हाईस्कूल भवन के निर्माण के लिए जमीन का चयन किया गया है। विभागीय अधिकारियों द्वारा निरीक्षण भी कर लिया गया है, लेकिन विभागीय स्वीकृतियों के अभाव में निर्माण शुरू नहीं हो पा रहा है।

एक वर्ष बाद भी नहीं मिली स्वीकृति :

जटपुरा व आसपास लगे गांवों के विद्यार्थियों को हाईस्कूल स्तर की शिक्षा गांव में दिलाने की योजना है। जमीन आवंटन आदेश नहीं होने के कारण निर्माण एजेंसी पीआईयू ने अभी तक कार्य प्रारंभ नहीं किया है, जबकि प्रस्तावित स्थल का अवलोकन परियोजना यंत्री को भी करा दिया गया है। शासन द्वारा वर्ष 2015-16 में इस विद्यालय की स्वीकृति दी गई थी। पूरे 1 करोड़ की लागत से हाईस्कूल भवन का निर्माण किया जाना है। हाईस्कूल की कक्षाएं, प्राचार्य कक्ष, स्टाफ कक्ष व अन्य सुविधा जुटायी जाना है, लेकिन एक वर्ष बीतने के बाद अभी तक भूमि आवंटन की स्वीकृति ही प्राप्त नही हुई। ग्राम पंचायत सरपंच बृजेश राजवैद्य ने बताया कि भूमि आवंटन की स्वीकृति के लिए खसरा नंबर 165 में 1.88 एकड़ भूमि स्वीकृति को लेकर पूर्व में कलेक्टर को पत्र भी लिखा गया है। ग्राम सभा में इसका सर्वस?मति से प्रस्ताव भी लिया जा चुका है। इस विद्यालय से जटपुरा, सोनपुरा, सांगवा, खेड़ी, खेड़ीमाल, सारसूद, अंजरूदमाल, अंजरूदरैय्यत सहित अन्य गांवों को फायदा होगा।

रामटेक में भी बनेगा हाईस्कूल :

विकासखंड के आदिवासी क्षेत्र रामटेक में भी हाईस्कूल को स्वीकृति मिल गई है। राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा मिशन के अंतर्गत ही निर्माण किया जाएगा। विभागीय रूप से इसकी स्वीकृति हो चुकी है। भवन निर्माण के लिए भूमि का चयन किया जाना है, जिसको लेकर शीघ्र ही विभाग का दल निरीक्षण करने पहुंचेगा। इस विद्यालय के निर्माण से विद्यार्थियों को सुविधाएं होंगी। इनका कहना ..

परियोजना यंत्री ने प्रस्तावित स्थल का अवलोकन कर लिया है। जमीन आवंटन का आदेश होते ही कार्य शुरू कर दिया जाएगा। इस संबंध में वरिष्ठ कार्यालय को अवगत कराया गया है।

-वीके नरवरिया, परियोजना अधिकारी

अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???