Patrika Hindi News

फ्रीडा पिंटो ने गरीबों के लिए किया ऐसा नेक काम कि दुनिया उन्हें कर रही है सलाम

Updated: IST freida
पहली बार ऑस्कर के बचे खाने का सही उपयोग हुआ है, फ्रीडा ने बचे हुए खाने को बर्बाद होने से बचा लिया...

सैन फ्रांसिस्को। अभिनेत्री फ्रीडा पिंटो ने जो किया, वह एक मिसाल है। उन्होंने इस नेक काम से दुनिया को एक ऐसा मैसेज दिया है, जिसके चलते यदि कोई चाह ले, तो दुनिया में कोई भी गरीब भूखा नहीं रह सकता। जी हां, ऑस्कर अवॉर्ड समारोह में दुनियाभर की सेलेब्स शिरकत करते हैं। शानदार दावत होती है। आपको जानकर आश्चर्य होगा कि इस समारोह में जितना खाना तैयार होता है, वह पूरा खत्म नहीं होता, बल्कि आधे से ज्यादा खाना बर्बाद हो जाता है। लेकिन इस बार ऑस्कर में बचा हुआ खाना बर्बाद नहीं हुआ। पहली बार ऑस्कर के बचे खाने का सही उपयोग हुआ है। फ्रीडा ने बचे हुए खाने को बर्बाद होने से बचा लिया। फ्रीडा ने फैसला किया कि जो खाना बचा है, उसे गरीबों में बांटा जाए। फ्रीडा की बात ऑस्कर आयोजकों को समण् में आ गई और फिर फ्रीडा की मदद से करीब 800 गरीब लोगों में ऑस्कर का बचा हुआ खाना बंटवाया।

जी हां, फ्रीडा पिंटो ऑस्कर के बचे हुए खाने के सही इस्तेमाल की वजह से सुर्खियों में हैं। हम आपको बता दें कि फ्रीडा ने इस समारोह के बाद बचे हुए खाने से करीब 800 लोगों की भूख मिटाई। इस तरह खाने की बर्बादी के साथ-साथ उन लोगों को खुश भी किया, जो हर रोज भरपेट खाने के लिए इधर-उधर भटकते रहते हैं, लेकिन भरपेट खाना नसीब नहीं होता है।

फ्रीडा की इस सोच की दुनियाभर में सराहना हो रही है। सोशल मीडिया पर उनके इस नेक काम की खूब तारीफ हो रही है। सभी लोग उनकी इस सोच और कदम से प्रभावित हैं। एक तरफ जहां ऑस्कर अपनी चूक और रेड कारर्पेट पर आए सितारों की वजह से सुर्खियों में रहा। वहीं दूसरी तरफ फ्रीडा का यह काम ऑस्कर को एक अलग रोशनी में लेकर आया है। फ्रीडा के इस नेक कदम से इस साल हुए समारोह को हमेशा याद किया जाएगा। साथ ही उम्मीद की जा रही है कि आगे भी ऑस्कर के मंच से इस तरह के सोशल कॉज होते रहेंगे।

गौरतलब है कि ऑस्कर की मेन्यू लिस्ट में कई तरह के पकवान बनाए जाते हैं। इस तरह का खास मेन्यू सेलेब्स के लिए तो कोई बड़ी बात नहीं है। लेकिन जिन गरीबों को वह खाना मिला, उनके लिए यह मेन्यू बेहद खास था। इस बेहतरीन खाने को शेफ वोल्फ गैंग ने तैयार किया था। लेकिन ऑस्कर अवॉर्ड फंक्शन खत्म होने के बाद काफी ज्यादा खाना बच गया था और यह पहली बार नहीं हुआ, बल्कि हर बार ऐसा होता है। चूंकि इस बार फ्रीडा की इस पर नजर थी और उन्होंने इस बार बचे हुए खाने को गरीेबों तक पहुंचाने का बीड़ा उडाया और इसमें उनका साथ दिया सैन फ्रांसिस्को की एक एनजीओ कोपिया ने। फ्रीडा ने सबसे पहले इस एनजीओ से टाइअप किया और उसके बाद दोनों ने मिलकर इस खाने को जरूरतमंद लोगों तक पहुंचाया। बहरहाल, ऑस्कर तो एक बड़ा समारोह है, जहां खाना बचना लाजिमी है, लेकिन दुनियाभर में हर रोज हजारों-लाखों इवेंट्स होते हैं...शादी समारोह होते हैं, जहां खाना बर्बाद होता है। यदि फ्रीडा पिंटो की तरह दूसरे लोग भी सामने आएं और समारोहों में बचे हुए खाने को गरीबों तक चहुंचाने का बीड़ा उठा लें, तो दुनिया में हर रोज लाखों गरीबों को भरपेट भोजन मिल जाएगा।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???