Patrika Hindi News

गंदगी देख भडक़े सीएमएचओ,बीएमओ ने कहा कर्मचारी तो दो

Updated: IST p
पीएमएचओ मंगलवार को नवीन सौ बिस्तर अस्पताल के निरीक्षण को आए गंदगी देख बीएमओ को फटकारा और चलते। बीएमओ साहब को बताते रहे कि एक स्थाई सफाई कर्मी है रोकस के आधा दर्जन सफाई कर्मियों को ६ माह से वेतन नही मिला दो हजार रुपए में कोई सफाई के लिए तैयार नही है लेकिन मुददे की बात को नजरअंदाज कर सीएमएचओ को वाहन में बैठे और फिर कहा आगे निरीक्षण में आएंगे अस्पताल साफ मिलना चाहिए।

पिपरिया

शासन ने करोड़ों की लागत का सौ बिस्तर अस्पताल तो बनवा दिया लेकिन उसमें स्टॉफ और सुविधाओं को तवज्जो नही दी है। सीएमएचओं ने मंगलवार को सरकारी अस्पताल का औचक निरीक्षण कर अस्पताल में गंदगी देखी तो बीएमओं को फटकार लगाई लेकिन गंदगी होने के कारणों पर कोई ध्यान नही दिया।

सीएमएचओं को अस्पताल की सफाई व्यवस्था ठीक नही लगी आम नागरिकों को भी यह अच्छा नही लगता लेकिन इसके पीछे क्या कारण है इसका समाधान करने कोई तैयार नही है। सीएमएचओ महज 25 मिनिट अस्पताल में रुके नई बिल्डिंग को निहारा फटकार लगाई और चल दिए। बीएमओ डॉ. एके अग्रवाल ने सीएचओ से निवेदन किया कि महज एक स्थाई सफाई कर्मचारी है बिल्डिंग बड़ी है इसलिए गंदगी है।

रोकस से पहले सफाई कर्मी रखे थे उनका ६ माह से वेतन भुगतान नही हो पाया है दो हजार रुपए में कोई सफाई कर्मी काम करने तैयार नही है। बीएमओ ने सीएमएचओं से सफाई कर्मी रखे जाने की अनुमति देने का निवेदन किया। लेकिन इस पर कोई तवज्जो न देते हुए सीएमएचओ महज 25 मिनिट अस्पताल में रुके और केवल सफाई पर असंंतोष जताते हुए रवाना हो गए। गौर तलब हो कि सौ बिस्तर अस्पताल के नए भवन के लिए न तो फर्नीचर मिला है न ही स्टॉफ फटे बेड और टूटे पलंग चमचमाते अस्पताल में व्यवस्थाओं को मुंह चिढ़ाते नजर आ रहे है।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???