Patrika Hindi News

गोंडवाना एक्सप्रेस में शव का 10 घंटे का सफर

Updated: IST death in train, shav, grp, rpf, dyss,
ग्वालियर के पहले से बर्थ पर पड़ा था शव

इटारसी। निजामुद्दीन से रायगढ़ के बीच चलने वाली गोंडवाना एक्सप्रेस में एक शव ने करीब 10 घंटे का सफर किया। यह शव बर्थ पर पड़ा रहा है और पास बैठे यात्री सोचते रहे कि युवक सो रहा है। बाद में यात्रियों को संदेह हुआ तब इस मामले का खुलासा हुआ। इस शव को इटारसी स्टेशन पर उतारा गया।
निजामुद्दीन से रायगढ़ जाने वाली 12410 गोंडवाना एक्सप्रेस के एस-2 कोच में एक 30 वर्षीय युवक ग्वालियर के पहले तक ठीक था। ग्वालियर स्टेशन के बाद वह बर्थ पर सो गया और उसके बाद उसकी मौत हो गई। यात्री जिस अवस्था में सोया था वह करीब 10 घंटे तक उसी हालत में रहा। आसपास बैठे यात्रियों को इस बात का जरा भी अहसास नहीं हुआ कि युवक की मौत हो गई है। युवक का शव उसी हालत में करीब 10 घंटे के सफर के बाद इटारसी आ पहुंचा। युवक की मौत का पता उस वक्त चला जब कुछ यात्रियों को उसके शरीर की हलचल बंद दिखी। उन्होंने टीटीई को सूचना दी और टीटीई ने कंट्रोल रूम को सूचित किया। कंट्रोल रूम से डिप्टी एसएस और जीआरपी थाने सूचना पहुंची तो डिप्टी एसएस अनिल राय और आरक्षक पहुंचे और शव को ट्रेन से उतरवाया। इस पूरी कवायद में ट्रेन को करीब 20 मिनट रोका गया। युवक अकेले ही ट्रेन में सफर कर रहा था। प्रथम दृष्टया यह हार्टफैल का मामला सामने आ रहा है।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ?भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???