Patrika Hindi News

पैसा जमा नहीं किया तो बिजली कंपनी ने काट दी बैंक की बिजली

Updated: IST Central Region Power Distribution Company
बनखेडी मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी का पैसा बैंक में जमा नहीं हो पाया तो इससे नाराज बिजली कंपनी के कर्मचारियों ने अचानक बैंक की बिजली काट दी। इससे एसबीआई सैकड़ों ग्राहक परेशान होते रहे। तीन दिन तक बिजली का कनेक्शन नहीं जुड़ा तो बैंक प्रबंधन ने सोमवार को पुलिस से शिकायत की।

बनखेड़ी/होशंगाबादबनखेडी मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी का पैसा बैंक में जमा नहीं हो पाया तो इससे नाराज बिजली कंपनी के कर्मचारियों ने अचानक बैंक की बिजली काट दी। इससे एसबीआई सैकड़ों ग्राहक परेशान होते रहे। तीन दिन तक बिजली का कनेक्शन नहीं जुड़ा तो बैंक प्रबंधन ने सोमवार को पुलिस से शिकायत की। पुलिस के हस्तक्षेप के बाद सोमवार को बैंक ऑवर के बाद बिजली जोड़ी गई।

एसबीआई के प्रबंधक एमएल कोरी ने बताया कि सोमवार शाम को छह बजे कंपनी के अधिकारियों ने काफी विवाद के बाद बिजली जोड़ी। विद्युत कंपनी का कर्मचारी शनिवार को बैंक में नकदी जमा करने के लिए आया था। कार्यालय का समय समाप्त होने के कारण उसकी राशि बैंक में जमा नहीं हो पाई। इसके कारण विद्युत कंपनी के एई जलज वाइकर ने दोपहर 2.30 से 3.00 बजे के आसपास बिजली काटवा दी। इसके बाद जब कंपनी के एई से बात की गई तो उन्होंने बताया कि उनका 6.40 लाख कैश जमा नहीं किया गया। बैंक मैनेजर ने दावा किया है कि एई और उनके बीच हुए संवाद के ऑडियो भी उनके पास सुरक्षित है।

पुलिस ने संभाली सुरक्षा व्यवस्थ्या

शनिवार को बिजली कटने के बाद बैंक का काम जनरेटर से चलाया गया। लेकिन जनरेटर भी ज्यादा देर तक काम नहीं कर सका। रविवार रात को पुलिस गश्त के लिए जब बैंक बैंक में अंधेरा दिखा तो पुलिस ने पूरे मामले की जानकारी बैंक से ली। इस पर रातभर दो पुलिस वाले को सुरक्षा के लिए बैंक के सामने तैनात रहे।

बैंक के भीतर की लाइन फाल्ट थी, जिसके कारण शहर की बिजली बार-बार ट्रिप कर रही थी। शनिवार को रात होने के कारण बैंक के भीतर घुस कर फॉल्ट सुधारना उचित नहीं समझा गया। रविवार को बैंक को कोई तकनीकि जानकार नहीं मिला और सोमवार को 33 केवी का पोल शहर के पास गिर गया था। जिसके कारण सुधार में थोड़ी देर हो गई।

जलज वाइकर, एई, विद्युत वितरण कंपनी, बनखेड़ी

बनखेड़ी स्टेट बैंक की बिजली तीन दिन से बिंद थी, तो उच्चाधिकारियों से बात की जानी चाहिए थी। एई किसी को इस तरह से परेशान नहीं कर सकता। पूरे मामले की जांच पिपरिया डीई से कराई जाएगी। मंगलवार को मामले का खुद फॉलोअप करुंगा।

आरएनएस ठाकुर, एसई होशंगाबाद

अगर पैसे जमा करने की बात को लेकर कोई परेशानी थी तो शिकायत करते। सोमवार को स्टेट बैंक के हजारों उपभोक्ता परेशान हुए।

एमएल कोरी, प्रबंधक, स्टेट बैंक ऑफ इंडिया

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मॅट्रिमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???