Patrika Hindi News

पिता और भाई के गायब होने पर युवती ने की खुदकुशी, परिवार ने केंद्रीय मंत्री को ठहराया जिम्मेदार

Updated: IST sucide
एक युवती ने अपने पिता और भाई के गायब होने से आहत होकर गुरुवार को खुदकुशी कर ली। घटना उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर के कोतवाली नई मंडी थाना क्षेत्र के अंकित विहार कॉलोनी की है। खुदकुशी की कहानी युवती के पिता से लूट और उसके बाद पिता व भाई को बंधक बनाने और उत्पीडऩ जैसे आरोप से जुड़ी हुई है। युवती की मां ने इस पूरी घटना के लिए एक कंन्द्रीय मंत्री को जिम्मेदार ठहराया है।

नई दिल्ली. एक युवती ने अपने पिता और भाई के गायब होने से आहत होकर गुरुवार को खुदकुशी कर ली। घटना उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर के कोतवाली नई मंडी थाना क्षेत्र के अंकित विहार कॉलोनी की है। खुदकुशी की कहानी युवती के पिता से लूट और उसके बाद पिता व भाई को बंधक बनाने और उत्पीडऩ जैसे आरोप से जुड़ी हुई है। युवती की मां ने इस पूरी घटना के लिए एक कंन्द्रीय मंत्री को जिम्मेदार ठहराया है। हालांकि, मंत्री ने युवती के परिवार के किसी भी सदस्य से कभी भी मिलने या व्यक्तिगत तौर पर जान पहचान होने से भी इनकार किया हैं। इलाके की पुलिस भी मंत्री का बचाव करती दिख रही है।

पुलिस ने नहीं का कार्रवाई तो दे दी जान
आत्महत्या करने वाली युवती के पिता देवप्रकाश एक बीजेपी नेता की कंपनी में काम करते हैं। बताया जाता है कि वह तीन दिन पूर्व कंपनी के काम से लखनऊ गए थे। इसी दौरान रास्ते में बदमाशों ने देवप्रकाश से कंपनी के सारे चार लाख रुपए लूट लिए। घटना के बाद देवप्रकाश ने मामले की जानकारी लखनऊ पुलिस के साथ ही कंपनी के मालिक को दी थी। इस घटना के दो दिन बाद भी जब वे घर नहीं लौटे तो उनका बेटा अक्षय पिता को ढूंढने के घर से निकला, लेकिन वह फिर वापस नहीं लौटा। जिसकी शिकायत पीडि़त परिवार ने पुलिस से की। पीडि़त परिवार के मुताबिक मामला हाइप्रफाइल होने की वजह से स्थानीय पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की। इससे आहत होकर देवप्रकाश की पत्नी ने पुलिस को यह चेतावनी दी थी कि अगर उसके पति और बेटे को जल्द रिहा नहीं किया गया तो वह सीएम के यहां बेटी के साथ आत्महत्या कर लेंगी। पीडि़त महिला लखनऊ पहुंचती इससे पहले ही गुरुवार की सुबह उनकी बेटी ने घर के अंदर फांसी लगाकर जान दे दी। खुदकुशी करने से पहले युवती ने घर की दीवार पर लिखा, 'मेरे भाई अक्षय को वापस लाकर दो।

पीडि़त मां ने लगाया मंत्री पर आरोप
खुदकुशी करने वाली युवती की मां संजी देवी का आरोप है की कंपनी के मालिक और भाजपा नेता ने उसके पति और बेटे को बंधक बनाया हुआ है। उनका आरोप है कि यह सब केंद्रीय मंत्री की साजिश है।

मंत्री ने बताया विरोधियों की साजिश
केन्द्रीय मंत्री ने इन आरोपों को सिरे से खारिज कर दिया है। मंत्री का कहना है कि महिला द्वारा उनका नाम घसीटे जाने से वे हैरान हैं। उन्होंने कहा कि यह कौन करा रहा है, इस साजिश के पीछे कौन हैं, यह वह नहीं जानते। मंत्री के मुताबिक वे देवप्रकाश के परिवार को जानते तक नहीं है। उन्होंने कहा कि जिस फर्म में वेदप्रकाश काम करते हैं, उससे भी मेरा कोई लेना देना नहीं है। लेकिन उन्होंने ये स्वीकार किया है कि युवती के पिता जिस फर्म में करते थे, उसके मालिक भाजपा से जुड़े हैं, इस नाते मैं सिर्फ उनको जानता हूं। वह इस बार बीजेपी से टिकट मांग रहे थे और वह गांव के प्रधान भी रह चुके हैं।

पुलिस ने की लूट की पुष्टि
एसपी सिटी राजेश कुमार के मुताबिक देवप्रकाश से लूट होने की रिपोर्ट लखनऊ में दर्ज है। उन्होंने बताया कि देवप्रकाश बुधवार को थाने आया था। कंपनी के लोग भी साथ में थे। उस दौरान वेदप्रकाश ने खुद के बंधक बनाए जाने से इनकार किया था। उनका बेटा गायब है, पुलिस पूरी मुस्तैदी से उसे ढूंढ रही है।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं? निःशुल्क रजिस्टर करें ! - BharatMatrimony
LIVE CRICKET SCORE

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???