Patrika Hindi News

नियमों की अनदेखी घटिया, कंडम बसों में ढो रहे स्कूली बच्चों को पड़ताल में आया सामने

Updated: IST Balod : Even after the school year has not seen th
जिले की सड़कों पर बेपरवाह दौड़ती मालवाहक हो, बसें या फिर बच्चों को लाने-ले जाने के लिए उपयोग की जानी वाली स्कूली बसों में अब भी किसी खतरे हो आमंत्रित करते नजर आ रहे हैं।

बालोद.जिले की सड़कों पर बेपरवाह दौड़ती मालवाहक हो, बसें या फिर बच्चों को लाने-ले जाने के लिए उपयोग की जानी वाली स्कूली बसों में अब भी किसी खतरे हो आमंत्रित करते नजर आ रहे हैं। इसके लिए जिम्मेदार नियमों का खुलकर उल्लंघन करने से नहीं चूक रहे हैं। बस उनका ध्यान केवल लाभ की ओर है, किसी के जान-माल से कोई मतलब नहीं है। इसी वजह से जिले में पिछले साल आधा दर्जन बसों के पलटने और दर्जनभर बड़ी दुर्घटनाओं में दर्जनभर से अधिक लोगों की जान चली गई।

लोग कर रहे अनदेखी
इसी का नतीजा ये सामने आया कि पिछले साल से यातायात सड़क सुरक्षा सप्ताह के दौरान जिलेभर में सावधानियों के साथ दुर्घटनाएं रोकने के लिए किए गए प्रयास को आम लोगों ने अनदेखी की। खासकर मालवाहक व बसों के संचालक ट्रैफिक विभाग की चेतावनी को नहीं माना और दुर्घटनाओं का कारण बना। वहीं इस बार भी यातायात सुरक्षा सप्ताह की शुरुआत बुधवार को की गई, तो पिछले साल की चेतावनी और जांच में मिली खामियां फिर सामने आई।

पटेल मैदान में की गई 20 स्कूली बसों की जांच
जिला मुख्यालय के सरदार पटेल मैदान में यातायात व परिवहन विभाग द्वारा स्कूली बसों का फिटनेश टेस्ट लिया गया। कामियों के कारण इसमें एक स्कूली बस व 6 टाटा मैजिक मालवाहक को जब्त किया गया। वहीं 11 स्कूली गाडिय़ों पर 15500 का चालान भी ठोका गया। यातायात प्रभारी एलएम सिंह ने बताया अभियान के तहत 20 स्कूल बसों की जांच-पड़ताल की गई। बुधवार सुबह 10 बजे से मैदान पर जिला मुख्यालय के अनेक निजी स्कूलों की बसों को बुलाया और परिवहन विभाग से मिलकर जांच की जिसमें कई बसों पर भारी कमियां पाई गई, तो कई बस चालकों को भी फटकार लगाई। वहीं लापरवाही पूर्वक गाड़ी नहीं चलने की समझाइस दी।

बसों में नहीं लगा सीसी टीवी कैमरा, फिटनेस चैकिंग में भी खरे नहीं
बसों की जांच-पड़ताल में पाया गया कि स्कूली बसों में बच्चों की सुरक्षा के प्रति भारी लापरवाही बरती गई है। बसों में सीसी टीवी कैमरा नहीं लगा है तो कई में अग्निशमन उपकरण नहीं लगा है। 11 स्कूली गाडिय़ों पर चालान भी काटा गया। साथ ही 15500 रुपए चालान भी काटा। साथ ही बस चालक व कंडेक्टर के पास ड्रेस नहीं होने के कारण उसे अधिकारियों ने फटकार भी लगाईं।

बस चालकों की आज होगा स्वास्थ्य परीक्षण, बाटेंगे चश्मा
यातयात विभाग से मिली जानकारी के अनुसार गुरुवार को स्कूली बस चालकों की नि:शुल्क स्वास्थ्य परीक्षण किया जाएगा, जिसमें ब्लड प्रेशर, आंख, शुगर, सर्दी-खांसी की जांच की जाएगी। वहीं बस चालकों को नि:शुल्क चश्मा का भी वितरण किया जाएगा। इस दौरान सहायक परिवहन अधिकारी पीआर ठाकुर, यातायात प्रभारी एलएम सिंह, संतोष ठाकुर अदि उपस्थित थे।

बस मिलने पर कार्रवाई
यातायात प्रभारी एलएम सिंह ने बताया कि निजी स्कूलों के संचालकों को पहले ही सूचना दी गई थी कि अपनी गाडिय़ों को जांच के लिए सरदार पटेल मैदान में लाए, पर निजी स्कूल संचालकों ने अपनी कई गाडिय़ों को जांच के लिए नहीं लाया। उसे छुपा दिया गया है। उन्होंने बताया इन बसों की खोजबीन चल रही है। बस मिलने पर कार्यवाही की जाएगी। एसपी बालोद दीपक कुमार झा ने बताया यातायात व परिवहन विभाग को प्रत्येक ब्लॉकों में जाकर स्कूली बसों की फिटनेस जांच करने निर्देश दिए गए हैं।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???