Patrika Hindi News

> > Indian Air Force’s Biggest Aircraft Are Now Ferrying Tonnes Of Currency



वायुसेना के सबसे बड़े एयरक्राफ्ट की मदद से पहुंचाए जा रहे हैं टनों नोट

Updated: IST Indian Air Force
भारतीय वायुसेना के विशाल विमानों द्वारा 165 टन नई करेंसी देश के अलग-अलग शहरों में पहुंचाये गये। इन विमानों में 500 और 2,000 के नोट भरे हुए थे।

नई दिल्ली. नोटबंदी के बाद कैश क्रंच की समस्या से पार पाने के लिए भारतीय वायुसेना के सबसे बड़े एयरक्राफ्ट हरक्यूलिस और ग्लोबमास्टर ने उड़ान भरने का काम शुरू कर दिया है। अभी तक इन विमानों द्वारा 15 से ज्यादा उड़ानें भरी जा चुकी हैं। इसका मकसद कम से कम समय में सुरक्षित रूप से निर्धारित शहरों तक प्रिंटेड नोटों को पहुंचाना है।

उड़ान समस्या दूर होने तक जारी रहेगी
वायुसेना के एक अधिकारी ने बताया कि 20 नवंबर को नई करेंसी के साथ उड़ान भरने की शुरुआत हुई थी। तब से एयरक्राफ्ट द्वारा देश के सभी क्षेत्रों में कम समय में पैसा पहुंचाने का काम जारी है। यह काम तब तक जारी रहेगा जब तक कैश क्रंच की समस्या दूर नहीं हो जाती। उन्होंने कहा कि आमतौर करेंसी को ढोने का काम सड़क व रेल लिंक माध्यमों का प्रयोग किया जाता है। केवल सड़क व रेल मार्ग से कटे उत्तर पूर्व या कुछ अन्य क्षेत्रों में अभी तक विमान से पैसा पहुंचाने का काम होता रहा है। पर नोटबंदी की वजह से कुछ समय के लिए वायुसेना को तत्काल नई करेंसी को पहुंचाने की जिम्मेवारी सौंपी गई है।

वायुसेना ने पहुंचाया 165 टन नोट
वायुसेना के अधिकारी ने बताया कि हमें इस बात को कोई लेना देना नहीं होता है कि विमान में कितने पैसे हैं। इस बात की चिंता किए बगैर वायुसेना के इन विमानों के माध्यम से 500 और 2,000 रुपये के 165 टन नोट पहुंचाने काम किया जा चुका है। ये नोट नासिक, मैसूर, इंदौर और सालबोनी (पश्चिम बंगाल) के प्रिंटिंग प्रेस में छापे गये थे। न्यू करेंसी चंडीगढ़, त्रिवेंद्रम और शिलांग सहित अन्य शहरों में पहुंचाना गया है।

हरक्यूलिस और ग्लोबमास्टर ने भरी 15 उड़ानें
कैश क्रंच की समस्या से पार पाने के लिए वायुसेना को कम समय में नये नोट आरबीआई के क्षेत्रीय केंद्रों तक पहुंचाने का काम द्वारा सौंपा गया है। लेकिन नोट कहां जाना है इस बात का निर्णय आरबीआई और वित्त मंत्रालय अधिकारी लेते हैं। अमरीकी कंपनी लॉकहीड मार्टिन द्वारा निर्मित सी-130 जे सुपर हरक्यूलिस और ग्लोबमास्टर बोइंग द्वारा निर्मित सी-17 विमान को इस काम में लगाया गया है। पिछले एक सप्ताह के दौरान इन विमानों ने 15 उड़ानें भरी हैं।

अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!

Latest Videos from Patrika

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???