Patrika Hindi News

अफसरों पर बूट पॉलिस का आरोप लगाने वाला जवान भूख हड़ताल पर 

Updated: IST lance naik yagya pratap singh on hunger strike
सेना के अफसर पर सेवादारी के दौरान जूते पॉलिस करवाने और कुत्तों को घुमाने का सनसनीखेज आरोप लगाने वाला लांस नायक यज्ञ प्रताप सिंह भूख हड़ताल पर बैठ गया है।

नई दिल्ली. सेना के अफसरों पर सेवादारी के दौरान जूते पॉलिस करवाने और कुत्तों को घुमाने का सनसनीखेज आरोप लगाने वाले लांस नायक यज्ञ प्रताप सिंह भूख हड़ताल पर बैठ गए हैं। इस बीच यज्ञ और बीएसएफ जवान तेज बहादुर यादव की पत्नियों ने पतियों द्वारा लगाए आरोपों की सीबीआई से जांच की मांग की। टीवी चैनल ABP से बातचीत में यज्ञ की पत्‍नी ऋचा ने कहा, "मेरे पति भूख हड़ताल पर बैठे हैं। मुझसे बातचीत के दौरान वे रो रहे थे। उन्होंने कहा, मुझे न्‍याय मिलनी चाहिए।"

#केस 1 : यज्ञ प्रताप का मामला सेवादारी में अफसरों का निजी काम

लांस नायक यज्ञ, देहरादून के 42 इन्फेन्ट्री ब्रिगेड में तैनात है। उन्होंने एक वीडियो जारी कर आरोप लगाया था कि अफसर जवानों से जूते साफ करवाते हैं, कुत्तों को घुमाने का काम करवाते हैं। जवानों से निजी सहायक जैसा काम लिया जाता है। इस बारे में पिछले साल जून में यज्ञ ने प्रधानमंत्री, रक्षा मंत्री, राष्ट्रपति और सुप्रीम कोर्ट को चिट्ठी लिखकर शिकायत किया था। बाद में यज्ञ ने आरोप लगाया कि शिकायत के बाद जांच की बजाए अफसरों ने धमकाना और परेशान करना शुरू कर दिया। उलटे उनके ही खिलाफ जांच बैठा दी। इसके तहत यज्ञ का कोर्ट मार्शल भी हो सकता है।

पत्नी ने क्या कहा ?

लांस नायक की पत्नी ने बताया कि उनके पति का मोबाइल फोन जब्‍त कर लिया गया है। उन्होंने किसी दूसरे का फोन लेकर मुझसे बात की और वे भविष्य को लेकर काफी परेशान थे। जो मोबाइल जब्त किया गया है उसमें अफसरों के खिलाफ सारे सबूत हैं। लांस नायक की पत्नी ने कहा, भूख हड़ताल में अगर मेरे पति को कुछ हुआ तो इसकी जिम्‍मेदारी सरकार और सेना के अफसरों की होगी।

#केस 2: जवानों के खान-पान का मामला, अफसरों पर करप्शन का आरोप

पूंछ सेकटर में बीएसएफ की 29वीं बटालियन में तैनात कॉन्स्टेबल तेजबहादुर यादव ने एक वीडियो जारी कर जवानों के खान-पान का मसला उठाया था। इसमें उन्होंने आरोप लगाया कि उन्हें सुबह नाश्ते में सिर्फ एक जला पराठा और चाय दिया जाता है। जबकि जवानों के लिए आने वाला सामान अफसर बेच देते हैं। इस मामले में पीएमओ ने होम मिनिस्ट्री से रिपोर्ट तलब की। हालांकि रिपोर्ट में कॉन्स्टेबल के आरोप को झूठा करार दे दिया गया। इससे पहले बीएसएफ ने कॉन्स्टेबल पर लापरवाही बरतने, अनुशासनहीन और मेंटल होने तक का आरोप लगाया था।

पत्नी ने क्या कहा ?

शनिवार को तेज बहादुर यादव की पत्‍नी शर्मिला यादव ने कहा कि उनके पति ने खराब खाना देने को लेकर जो आरोप लगाए हैं, उनकी सीबीआई जांच करवाई जाए। जो दोषी हों उनपर कार्रवाई होनी चाहिए। उन्होंने कहा, 'बीएसएफ ने जो जांच की वह पूरी तरह गलत है। उनके पति को सामने नहीं आने दिया जा रहा है। दो दिन से पति से मेरी बात नहीं हो पा रही है। उन्‍हें कहां छुपा कर रखा गया है, उन्‍हें सामने लाया जाए।

आर्मी चीफ ने सोशल मीडिया में शिकायत को कहा गलत

उधर, शुक्रवार को आर्मी चीफ विपिन चन्द्र रावत ने जवानों द्वारा सोशल मीडिया में की जाने वाली शिकायतों को गलत करार दिया। उन्होंने कहा कि अगर कोई दिक्कत है तो सीधे अफसरों के पास शिकायत की जाए। उस दौरान आर्मी चीफ ने यह भी घोषणा की कि सेना के सभी मुख्यालयों और कमांड्स में शिकायती बॉक्स लगाया जाएगा। ताकि जवान यहां अपनी शिकायत दर्ज करवा सके। आर्मी चीफ ने बताया कि वे खुद इसकी निगरानी करेंगे।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???