Patrika Hindi News

> > Nagrota terror attack: Brave army officers wives avoided ’mortgage crisis’

नगरोटा आतंकी हमलाः आर्मी ऑफिसरों की बहादुर पत्नियों की मुस्तैदी से टला 'बंधक संकट'

Updated: IST nagrota camp
सेना के दो ऑफिसरों की पत्नियों ने साहस दिखाते हुए घर के कुछ सामानों की मदद से अपने क्वार्टर की एंट्री को ब्लॉक कर दिया, जिससे आतंकवादियों के लिए घर में दाखिल होना मुश्किल हो गया।

नगरोटा। जम्मू के नगरोटा में मंगलवार को हुए आतंकी हमले में भारतीय सेना को और अधिक नुकसान हो सकता था। लेकिन, आर्मी ऑफिसरों की पत्नियों ने बहादुरी दिखाते हुए सेना को और बड़ा नुकसान होने से बचा लिया। आतंकियों का मंसूबा फैमिली क्वार्टर्स में घुसकर सैन्य अधिकारियों और उनके परिवारों को बंधक बनाकर क्षति पहुंचाने की थी। इस आतंकवादी हमले में दो अफसरों समेत 7 सैनिक शहीद हो गए, जबकि हमला करने वाले तीनों आतंकियों को भी मार गिराया गया।

पुलिस ड्रेस में भारी हथियारों से लैस आतंकवादियों ने जब आतंकवादियों पर हमला किया, तो उनका मंसूबा फैमिली क्वार्टर में घुसकर वहां रह रहे सेनिकों के परिवारों को बंधक बनाने की था। लेकिन, अपने नवजात बच्चों के साथ क्वार्टर में मौजूद दो बहादुर महिलाओं के चलते आतंकियों के मंसूबे पर पानी फिर गया।

सेना के एक अधिकारी ने बताया, 'नाईट ड्यूटी में तैनात सेना के दो ऑफिसरों की पत्नियों ने साहस दिखाते हुए घर के कुछ सामानों की मदद से अपने क्वार्टर की एंट्री को ब्लॉक कर दिया, जिससे आतंकवादियों के लिए घर में दाखिल होना मुश्किल हो गया।' अधिकारी ने बताया, 'यदि महिला इस तरह की मुस्तैदी नहीं दिखाती, तो आतंकवादी परिवारों और ऑफिसरों को बंधक बनाने में कामयाब हो जाते और सेना को बड़ा नुकसान पहुंचा सकते थे।'

सेना के प्रवक्ता लेफ्टिनेंट कर्नल मनीष मेहता ने बताया, 'आतंकवादी सेना के दो बिल्डिंग में घुसे जहां ऑफिसर और उनके परिवार रहते हैं। इससे 'बंधक संकट' जैसे हालात पैदा हो गए। लेकिन, सेना द्वारा की गई त्वरित कार्रवाई में 12 जवान, दो महिलाओं और दो बच्चों को सफलतापूर्वक बाहर सुरक्षित निकाला गया।' अधिकारी ने बताया कि जिन दो बच्चे को बचाया गया उनकी उम्र महज 18 महीने और 2 महीने हैं। हालांकि, इस अभियान में सेना के एक अधिकारी और दो जवान शहीद हो गए।

आपको बता दें कि तीन आतंकवादियों के शव बरामद किए गए हैं और पूरे इलाके की तलाशी के लिए ऑपरेशन चलाया गया। सेना ने सर्च ऑपरेशन अभी खत्म नहीं किया है, क्योंकि वह अच्छी तरह पूरे इलाके की तलाशी लेना चाहती है, पर फिलहाल सुबह तक के लिए ऑपरेशन को स्थगित कर दिया गया है।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!

Latest Videos from Patrika

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???