Patrika Hindi News

 लाइन लगने से छुटकारा,  अब घर-घर पेट्रोल-डीजल  पहुंचाएगी मोदी सरकार

Updated: IST petrol pump
आनेवाले दिनों में आपको पेट्रोल, डीजल और अन्य पेट्रोलियम प्रोडक्ट्स लेने के लिए पेट्रोल पंप पर लंबी कतारों का हिस्सा नहीं बनना पड़ेगा। मोदी सरकार अब पेट्रोलियम उत्पादों के लिए प्री-बुकिंग और होम डिलीवरी की योजना पर काम कर रही है।

नई दिल्ली। आने वाले दिनों में आपको पेट्रोल, डीजल और अन्य पेट्रोलियम प्रोडेक्ट्स लेने के लिए पेट्रोल पंप पर लंबी कतारों का हिस्सा नहीं बनना पड़ेगा। मोदी सरकार अब पेट्रोलियम उत्पादों के लिए प्री-बुकिंग और होम डिलीवरी की योजना पर काम कर रही है। हालांकि यह योजना अभी अपने शुरुआती चरण में ही है। मगर यदि सरकार अपने इस योजना में सफल रहती है तो आपको घर बैठे-बैठे पेट्रोल मिल जाएगा। इस योजना के बारे में बताते हुए पेट्रोलियम मंत्रालय ने कहा कि फ्यूल स्टेशनों पर लंबी लाइन से बचने के लिए अगर उपभोक्ताओं द्वारा प्री-बुकिंग की जाती है तो सरकार होम डिलीवरी करने की योजना पर विचार कर रही है। मंत्रालय ने इस बात की जानकारी शुक्रवार को ट्वीट के माध्यम से दी।

समय और श्रम दोनों की होगी बचत
इस योजना के जमीनी हकीकत बनने के बाद ग्राहकों को समय और श्रम दोनों की बचत होगी। पेट्रोलियम मंत्रलाय ने शुक्रवार को अपने ऑफिशियल ट्विटर हैंडल से किए ट्वीट में लिखा- "उन विकल्पों की तलाश की जा रही है, जिसके तहत पेट्रो उत्पादों की पूर्व बुकिंग पर उपभोक्ताओं को होम डिलीवरी दिया जा सके।" अपने दूसरे ट्वीट में उन्होंने लिखा कि इससे कंज्यूमर को अपना समय बचाने में और फ्यूल स्टेशनों पर लंबी लाइन में न लगने में मदद मिलेगी।

दुनिया का तीसरा बड़ा तेल उपभोक्ता देश है भारत
बता दें कि भारत में प्रतिदिन करीब 350 मिलियन (35 करोड़) लोग पेट्रोल पंप पर जाते हैं। इन ईंधन स्टेशनों पर सालाना 2,500 करोड़ रुपये का लेनदेन होता है। खपत के मामले में भारत, दुनिया तीसरा सबसे बड़ा तेल उपभोक्ता है।

कीमत के लिए चल रही है पांच शहरों में पायलट योजना
पेट्रोल और अन्य पेट्रोलियम उत्पाद की कीमत हमेशा अंतर्राष्ट्रीय बाजार के दवाब में रहती है। सरकार इस पर भारी सब्सिडी देकर कीमतों में एकरुपता लाने का काम लंबे समय से कर रही है। मगर अब सरकार ने इसकी कीमत के लिए प्रतिदिन समीक्षा करने की योजना पर काम कर रही है। देश के पांच शहरों में एक मई से पेट्रोल और डीजल के दामों की प्रतिदिन समीक्षा की जाएगी।

बढ़ा है ऑनलाइन ट्रांजेक्शन
पेट्रोलियम मंत्रालय ने बताया कि पेट्रोलियम उत्पादों में प्रतिदिन होने वाले कैशलेस ट्रांजेक्शन में बढ़ोत्तरी देखने को मिली है। प्रतिदिन कैशलेस ट्रांजेक्शन का आंकड़ा 150 करोड़ रुपए प्रतिदिन से बढ़कर 400 करोड़ रुपए प्रतिदिन हो गई है।

यह भी पढ़े :
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं? निःशुल्क रजिस्टर करें ! - BharatMatrimony
LIVE CRICKET SCORE

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???