Patrika Hindi News

Video Icon चलती ट्रेन से हावड़ा के 20 मजदूर लापता, रागयढ़ से अहमदाबाद तक मचा हडकंप

Updated: IST 20 laborers missing from moving train
चलती ट्रेन से हावड़ा के २० मजदूरों के लापता होने के बाद रायगढ़ से लेकर अमहदाबाद तक हडकंप मचा गया है।

रायगढ़. चलती ट्रेन से हावड़ा के २० मजदूरों के लापता होने के बाद रायगढ़ से लेकर अमहदाबाद तक हडकंप मचा गया है।

उक्त मजदूर को बुलाने वाले राजकोट के कांट्रेक्टर ने आरपीएफ को बताया कि ट्रेन में मजदूरों का एक टीटीई मिला। जो अपना नाम मानस शर्मा बताया।

वहीं बगैर टिकट के रेल सफर करने की बात सभी मजदूरों को रायगढ़ में उतारा है। जबकि आरपीएफ ने मालूम किया तो हावड़ा-अमहदाबाद एक्सप्रेस में उस नाम का कोई रनिंग टीटीई की ड्यूटी ही नहीं लगाई गई है।

२० मजदूरों के ट्रेन से लापता होने के बाद रायगढ़ से अहमदाबाद तक हडकंप मच गया है। वहीं रायगढ़ आरपीएफ, स्थानीय क्राइम क्रांच की मदद से उक्त मजदूरों व फर्जी टीटीई को खोजने में जूट गई है।

देखें वीडियो :

सोमवार की सुबह रायगढ़ आरपीएफ प्रभारी के पास अहमदबाद के राजकोट से कांटेक्टर प्रदीप कुमार ने फोन किया कि हावड़ा के मेदनीपुर से उनके २० मजदूर, हावड़ा-अहमदाबाद एक्सप्रेस से लापता हो गए हैं।

इस बात को सुन आरपीएफ के अधिकारी भी हैरान हो गए। मिली जानकारी के अनुसार उक्त मजदूरों को ठेकेदार प्रदीप ने प्लसमेंट एजेंसी के माध्यम से काम करने के लिए अहमदाबाद बुलाया था।

कंपनी ने सभी मजदूरों को ट्रेन टिकट कटा कर उन्हें ट्रेन में बैठा दिया। मजदूरों ने भी ट्रेन में बैठने व उसके हावड़ा स्टेशन से खुलने की बात ठेकेदार से कही।

सोमवार की सुबह उन्हीं मजदूरों में से एक ने ठेकेदार को फोन किया कि ट्रेन के रनिंग टीटीई ने उन्हें पकड़ लिया है। जब ठेकेदार ने उक्त टीटीई से बात की तो टीटीई ने खुद का परिचय रनिंग स्टॉप मानस शर्मा के रुप में दिया। वहीं मजदूरों के पास टिकट नहीं होने की बात कह उनपर फाइन करने की बात कही।

जब ठेकेदार ने कहा कि सभी मजदूरों के पास तो वैध टिकट है। यह बात सुन कर उक्त टीटीई ने फोन काट दिया। इसके बाद ठेकेदार ने रायगढ़ आरपीएफ प्रभारी से संपर्क कर पूरे मामले की जानकारी दी।

आरपीएफ अधिकारी ने जब अपने स्तर पर पड़ताल की तो यह बात सामने आई कि हावड़ा-अहमदाबाद एक्सप्रेस में मानस शर्मा नाम से कोई रनिंग स्टॉफ है ही नहीं।

ऐसे में, फर्जी टीटीई की बात सामने आते ही आरपीएफ अधिकारी अपने मुखबिरों की मदद से उक्त मजदूर व फर्जी टीटीई को खोजने में जुट गई है। वहीं रायगढ़ क्राइम ब्रांच की मदद भी ली जा रही है।

4 पहिया से ले जा रहे है साहब और फोन बंद- ठेकेदार ने पत्रिका को बताया कि उक्त मजदूरों का अंतिम बार फोन सुबह करीब १०.३० में आया था। जिसमें मजदूरों ने कहा कि उक्त टीटीई, उन्हें ट्रेन से उतार कर चार पहिया वाहन से कहीं ले जा रहा है। उसके बाद मजदूर को फोन बंद हो गया। जिसके बाद उक्त मजदूरों में से किसी के मोबाइल पर संपर्क नहीं हो सका है।

टिकट का व्यवस्था करो या खाते में जमा करो रुपए- ठेकेदार ने बताया कि उक्त फर्जी टीटीई ने ट्रेन के रायगढ़ पहुंचने की बात कही। वहीं मजदूरों के लिए टिकट की व्यवस्था की बात कही या फिर खाते में कुछ पैसे भेजने की बात कही। उसके बाद ठेकेदार ने रायगढ़ आरपीएफ प्रभारी का नेट से नंबर खोज, उनसे संपर्क किया।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???