Patrika Hindi News

> > > > after uri tererist attack army recruitment rally in madhya pradesh

#UriAttack सेना भर्ती रैली, बैग चोरी होने से टूटा फौजी बनने का अरमान

Updated: IST after uri tererist attack army recruitment rally
जिला प्रशाासन की लापरवाही से उम्मीदवारों को आई परेशानी, कॉलेज मैदान पर एंट्री नहीं मिलने से रात 12 बजे तक सड़कों पर सोए रहे अभ्यर्थी

धार (इंदौर). सेना भर्ती के लिए बाहर से आए अभ्यर्थियों को कॉलेज मैदान पर एंट्री नहीं मिलने के कारण रात 12 बजे तक वे सड़कों पर सोए रहे।

इधर कैलाश नगर के एक मकान में कुछ देर के लिए आराम करने वाले देवास जिले के अजय पिता रमेश चंद्र का बैग किसी ने चुरा लिया, जिससे उसके सेना में भर्ती होने के अरमान धरे रह गए। अजय का कहना है उसके लिए सेना में भर्ती होने का यह अंतिम अवसर था। बताया जा रहा है कि इससे पहले भी अजय ने सेना भर्ती में तीन बार फिजिकल टेस्ट पास कर लिए थे, लेकिन वरीयता क्रम में पिछडऩे के कारण वह सेना में भर्ती नहीं हो सका था।

यह भी पढ़ें:- #UriAttack सेना भर्ती रैली: पहली बार इतनी बड़ी संख्या में पहुंचे युवा

अजय के अलावा देवास शहर के पुतलीपुरा से आए बबलू पिता सूर्यपाल सोलंकी का बैग भी चोर चुरा ले गए, जिससे वह भी सेना भर्ती रैली में शामिल नहीं हो सका। दोनों ही अभ्यर्थियों के दस्तावेज बैगों में रखे थे। इस हादसे के पीछे कहीं न कहीं जिला व पुलिस प्रशासन जिम्मेदार नजर आ रहा है, जो बाहर से आने वाले अभ्यर्थियों के रहने या इन्हें कॉलेज मैदान में समय पर प्रवेश नहीं देने में असमर्थ रहा। 22 सितंबर को सेना भर्ती रैली में शामिल होने के लिए देवास जिले के 3 हजार 490 अभ्यर्थी शामिल हुए थे।

478 ही दौड़ पाए : देवास जिले के 4 हजार 396 अभ्यर्थियों ने सेना भर्ती रैली के लिए पंजीयन करवाया था, लेकिन गुरुवार को हुई भर्ती में केवल 3 हजार 490 उम्मीदवार ही धार पहुंचे। इधर ऊंचाई टेस्ट में 235 अभ्यर्थी बाहर हो गए तो दौेड़ में शामिल हुए 3 हजार 255 अभ्यर्थियों में से 478 पास हुए। सेना भर्ती निर्देशक राजीव कुमार ने बताया कि पहले दिन एक अभ्यर्थी भिंड जिले का सामने आया था, लेकिन पुलिस की पूछताछ में उसने केवल भर्ती देखने की बात कबूल की थी, जिसके चलते उसे छोड़ दिया गया।

यह भी पढ़ें:-Video Icon प्रेमिका की हत्या कर दफनाया, कब्र के ऊपर सोता रहा यह LOVER

सेना भर्ती रैली के पहले दिन हुई धार जिले की प्रतिस्पर्धाओं में 380 अभ्यर्थी मेडिकल तक पहुंंच पाए थे, जिनमें से 261 की मेडिकल जांच हो चुकी है। इनमें से 137 अभ्यर्थी फिट पाए गए।

लोगों ने घर के दरवाजे भी खोले

भर्ती के लिए बाहर से आए अभ्यर्थियों की देश सेवा का जज्बा देख कॉलेज के सामने बसे कैलाश नगर के लोगों ने अपने घर के दरवाजे खोल दिए। बताया जा रहा है कि सड़कों पर सोए उम्मीदवारों का सेना में जाने का हौसला लोगों को पसंद आया और उन्होंने न केवल अपने घरों में उन्हे अस्थायी पनाह दी, बल्कि पीने के पानी आदि की भी व्यवस्था की। कॉलोनी में रहने वाले गुड्डू पचौरी ने बताया घर का एक हिस्सा खाली पड़ा था तो कुछ घंटों के लिए सेना में भर्ती होने आए युवाओं के हवाले कर दिया।

Army recruitment rally at dhar

आज इंदौर जिले की भर्ती

शुक्रवार को सेना भर्ती रैली में इंदौर जिले की महू तथा इंदौर तहसील के अभ्यर्थी शामिल होंगे। सेना भर्ती अधिकारियों से मिली जानकारी के अनुसार उक्त दोनों तहसील के 4609 अभ्यर्थियों ने पंजीयन करवाया है। इंदौर जिले की शेष तहसीलों की भर्ती 29 सितंबर को की जाएगी। इधर 22 सितंबर को हुई देवास जिले की भर्ती में भी सोनकच्छ तहसील को छोड़ा गया था, जिसके अभ्यर्थी भी 29 सितंबर की भर्ती प्रक्रिया में शामिल होंगे।


जैसे निर्देश
हम तो वैसा ही कर रहे हैं, जैसा ऊपर से आदेश मिलता है। रात 12 बजे से पहले कॉलेज मैदान में प्रवेश पर रोक के निर्देश मिले थे, इसलिए उन्हें बाहर ही रोक दिया गया था।

-विक्रम सिंह, सीएसपी

व्यवस्थाएं कर रहे हैं

मुझे भी आज ही पता चला है कि उम्मीदवारों को परेशानी हो रही है। आस-पास के स्कूलों और कुछ खाली सरकारी भवनों में उनके ठहरने की व्यवस्था कर रहे हैं।

-श्रीमन शुक्ला, कलेक्टर, धार

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे