Patrika Hindi News

पशु पकड़ रही टीम पर हमला, आंखों में झोंकी मिर्ची

Updated: IST municipal corporation
टीम पर पथराव कर पशु छुड़वाए, पुलिस ने दर्ज किया केस

इंदौर. वृंदावन कॉलोनी में पशु पकडऩे गई नगर निगम की टीम पर पशु पालकों ने हमला कर दिया। युवकों ने किराया दुकान से मिर्च लाकर कर्मचारियों की आंख में झोंक दी और डंडों से पीटने के साथ ही पथराव भी किया। हमला कर आरोपित चार पशु छुड़ाकर ले जाने में सफल रहे।

सुबह 11 बजे अक्षय एकेडमी के पास निगम की टीम ने पांच पशुओं को पकड़ा। जब टीम आगे बढ़ रही थी उस दौरान दोपहिया वाहनों पर सवार होकर आए पशु पालकों ने इन पर अचानक हमला कर दिया। उपायुक्त महेंद्रसिंह चौहान के मुताबिक, हमला करने वाले युवकों ने पास की किराना दुकान से मिर्ची लेकर कर्मचारियों की आंंख में झोंक दी। कर्मचारी जब आंख में मिर्ची जाने से छटपटाने लगे उस दौरान आरोपितों ने डंडों से हमला किया। पास में निर्माणाधीन मकान के बाहर पड़ी गिट्टी उठाकर पथराव भी किया जिसके कारण थोड़ी देर के लिए अफरा-तफरी की स्थिति बन गई। टीम ने पांच पशु पकड़े थे, जिसमें से चार पशु आरोपित छुड़ाकर ले जाने में सफल हो गए। निगम कर्मचारियों ने हमले की सूचना अपने अफसरों को दी तो उन्होंने पुलिस को सूचित किया। कुछ देर बाद बाणगंगा पुलिस मौके पर पहुंची तब तक पशु पालक फरार हो चुके थे। अफसरों के निर्देश पर चौहान बाणगंगा थाने पहुंचे और हमला करने वाले के खिलाफ शिकायत की। चौहान के मुताबिक, हमले में कर्मचारी विकास, सागर, नीलेश यादव, कौशल व शैलेंद्र को चोटें आई। पुलिस ने निगम की शिकायत पर पशु पालक दीपक, मनोज व अन्य लोगों के खिलाफ शासकीय कार्य में बाधा व मारपीट का केस दर्ज किया है।

साथ नहीं रहती पुलिस

पशु पकडऩे के दौरान पालक कई बार निगम टीम के साथ विवाद करते हैं। इन्हीं विवादों के कारण तय हुआ था कि टीम के साथ कार्रवाई में पुलिस बल भी रहेगा। कुछ समय इसका पालन होता है लेकिन अन्य समय पुलिस साथ नहीं होती। गुरुवार को भी पुलिस साथ नहीं थी। उपायुक्त महेंद्रसिंह चौहान के मुताबिक, साल में हमले के 10 केस अलग-अलग थानों में दर्ज हुए और करीब 20 बार विवाद की शिकायत थानों में की गई है। सुरक्षा के लेकर फिर से अफसरों से बात की जाएगी।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???