Patrika Hindi News

फेसबुक पर युवती की फर्जी प्रोफाइल बनाई, किया डेटिंग पर ले जाने का वादा

Updated: IST How to identify fake facebook profile
पुलिस युवक के संबंध में जांच कर रही है। दोषी पाए जाने पर उसके खिलाफ केस दर्ज किया जाएगा।

इंदौर. एक युवती की फर्जी फेसबुक आईडी बनाकर बदमाश युवकों को डेटिंग का झांसा देकर ठगी का मामला सामने आया है। विजय नगर टीआई प्रशांत यादव ने बताया, इलाके में रहने वाली युवती निजी कंपनी में नौकरी करती है।

उसने बुधवार को आवेदन देकर शिकायत की है। युवती का फोटो लगाकर किसी ने फर्जी फेसबुक अकाउंट बनाया। उस अकाउंट से युवकों से चैटिंग कर डेट पर चलने का झांसा देकर बदमाश अपने मोबाइल पर रिचार्ज कराने के साथ पेटिएम के माध्यम से अन्य बिलों का भुगतान करा रहा था। युवती ने दफ्तर में साथ काम कर चुके भोपाल के युवक पर शंका जताई है। पुलिस युवक के संबंध में जांच कर रही है। दोषी पाए जाने पर उसके खिलाफ केस दर्ज किया जाएगा।

यह भी पढ़ें- इंदौर में करीना कपूर के बेबी बंप फोटोशूट का ट्रेंड, लेडीज कर रही प्राउड फील

Court held guilty accused of unnatural acts With c

वो FB पर फर्जी प्रोफाइल से परेशान थीं, इसके दर्द की दस्तां पढ़ आप भी चौंक जाएंगे

चेन्नई में फेसबुक पर युवती की फर्जी प्रोफाइल बनाने के बाद जान देने का मामला सामने आने पर फेसबुक के खिलाफ आपराधिक मामला दर्ज करने का नोटिस जारी किया है, क्योंकि जानकारी देने में पांच दिन का समय लगा। इसके ठीक विपरीत इसी तरह के एक मामले में इंदौर पुलिस फर्जी प्रोफाइल बनाने वाले का आईपी एड्रेस पिछले दो वर्षों में मालूम नहीं कर सकी।

मामला ओल्ड पलासिया के हसीजा कंपाउंड में पेइंग गेस्ट के तौर पर रहने वाली मल्लिका उर्फ मौली गांगुली (22) निवासी नेपानगर (बुरहानपुर) की आत्महत्या से जुड़ा है। वेंच्युर सिक्योरिटी चतुर्वेदी मेंशन पलासिया में बैक ऑफिस एग्जीक्यूटिव मौली ने 31 मार्च 2014 को फर्जी प्रोफाइल से परेशान होकर फांसी लगाकर आत्महत्या की थी। आरकेडीएफ कॉलेज से बीई टॉप करने के बाद उसने यह नौकरी ज्वॉइन की थी। आत्महत्या से तीन दिन पहले मल्लिका ने सायबर सेल में फेसबुक पर फर्जी आईडी बनाकर अश्लील चित्र डालकर बदनाम करने की शिकायत भी की थी, लेकिन पलासिया पुलिस और सायबर सेल इस मामले में आज तक कोई सुराग नहीं लगा पाई।

यहां बेखौफ इस्तेमाल करें चेंजिंग रूम, कलेक्टर ने मांगा शॉप मालिकों से कैमरे नहीं होने का शपथ पत्र

पत्र भेजा, ड्यूटी खत्म

सायबर सेल की तत्कालीन टीआई सुनीता कटारा ने आधा दर्जन बार पत्र व रिमाइंडर फेसबुक के हैदराबाद स्थित स्थानीय दफ्तर के साथ कैलिफोर्निया स्थित मुख्यालय को भी भेजे थे। फेसबुक द्वारा जवाब नहीं मिलने की बात कहकर सायबर सेल मामले को ठंडे बस्ते में डाल चुका है। सायबर सेल प्रभारी रविकांत डेहरिया ने इस संबंध में कहा कि मामले की जांच तत्कालीन टीआई के पास थी, मर्ग जांच पलासिया पुलिस ने की। अब तक फेसबुक से कोई जवाब नहीं मिला है।

शिकायत बेअसर

मौली के पिता शिरीष गांगुली और भाई अभिषेक इंसाफ की गुहार के लिए पुलिस अधिकारियों, डीजीपी और गृह मंत्री तक शिकायत कर चुके हैं। परिवार ने आरोप लगाया था कि फर्जी फेसबुक अकाउंट बनाने के साथ अश्लील फोटो डाली गई थी। इसके नाम पर मौली को ब्लैकमेल किया जा रहा था। पुलिस और सायबर सेल ने मामले को गंभीरता नहीं लिया। इससे उसकी मौत का जिम्मेदार आज भी आजादी से घूम रहा है।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???