Patrika Hindi News

आयकर के किसी भी नोटिस से व्यापारी न घबराएं

Updated: IST
व्यापारी संगठन का सेमिनारछापे और सर्वे के दौरान कर सलाहकार से ले सकते हैं सलाह

इंदौर. आयकर विभाग छापे और सर्वे के दौरान यदि आपके संस्थान में आए तो कर सलाहकार से सलाह लेकर ही किसी भी कागज पर हस्ताक्षर करें। आयकर विभाग द्वारा दिए जाने वाले नोटिस से घबराने की जरूरत नहीं है, इस प्रकार के नोटिसों का निर्धारित समयावधि में जवाब अवश्य दें।

यह बात गुरुवार सायं 5 बजे राजेंद्र माथुर सभागृह में आयोजित सेमिनार में मुख्य वक्ताओं ने कहे। नोटबंदी के बाद जिस तरह से आयकर विभाग ने व्यापारियों को ताबड़तोड़ नोटिस जारी किए हैं, वहीं दूसरी ओर सर्वे और सर्च की कार्रवाइयां भी काफी अधिक हुई है। इस सबके बीच अहिल्या चेंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री ने व्यापारियों के हितों की सुरक्षा और जानकारी परक सेमिनार का आयोजन किया। गुरुवार सायं 4 बजे से राजेंद्र माथुर सभागृह में आयोजित सम्मेलन में चेंबर के अध्यक्ष रमेश खंडेलवाल, महामंत्री सुशील सुरेका, रसनिधि गुप्ता समेत कई पदाधिकारी मौजूद थे।

आयकर प्रावधान एवं नियमों में 1 अप्रैल 2017 से आए बदलाव विषय पर आयोजित आयोजित कार्यशाला में करदाता के कानूनी अधिकारों पर एडवोकेट राजेश जोशी ने कहा, अगर आयकर विभाग करदाता पर कर चोरी का आरोप लगाता है, तो सिद्ध भी आयकर विभाग को ही करना होगा। अगर आपके पास पर्याप्त सबूत है तो आपको किसी भी प्रकार से डरने की जरुरत नहीं है। आयकर अधिकारी द्वारा बताए गए बयान को भी स्वीकार न करें और किसी भी कागज पर सलाह लिए बगैर हस्ताक्षर न करें।

आइए बताते हैं यूट्यूब से करोड़पति बनने के तरीके

सेमिनार में आरएस गोयल, कैलाश अग्रवाल, सीए राजेश मेहता और सीए अभय शर्मा ने भी आयकर रिटर्न और पैन कार्ड के विभिन्न प्रावधानों पर अपने विचार व्यक्त किए। सेमिनार की अध्यक्षता रमेश खंडेलवाल और आभार रसनिधि कुमार गुप्ता ने माना। कार्यक्रम में बड़ी संख्या में अहिल्या चेंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज के सदस्य मौजूद थे।

रईस ने सोनू बनकर बनाए अवैध संबंध, शिक्षिका ने पीछा छुड़ाया तो कर दिया मर्डर

आक्रोशित व्यापारी

नोटबंदी के बाद आयकर विभाग ने जिस तरह से व्यापारियों और कारोबारियों को 20 हजार से ज्यादा नोटिस जारी किए है, इसके बाद से ही व्यापारी वर्ग आक्रोशित है। एकजुट होकर व्यापारी संगठन ने जहां एक ओर आयकर के खिलाफ मुहिम छेड़ी है, वहीं दूसरी ओर सदस्यों को जागरूक भी किया जा रहा है।

यह भी पढ़े :
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं? निःशुल्क रजिस्टर करें ! - BharatMatrimony
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???