Patrika Hindi News

महाराष्ट्र से ला रहे सस्ता प्याज सरकार को टिका रहे महंगा

Updated: IST
व्यापारी और किसानों की सांठगांठ से शुरू हुआ नया खेल

मोहित पांचाल. इंदौर.प्रदेश के किसानों को राहत देने के लिए सरकार आठ रुपए किलो प्याज खरीद रही है लेकिन उसमें मुनाफाखोरी शुरू हो गई है। कुछ व्यापारी महाराष्ट्र से थोकबंद प्याज लाकर आठ रुपए किलों में बेचकर सरकार को चूना लगा रहे हैं। इस कमाई के खेल में कुछ किसान भी शामिल हैं जो मंडी तक माल पहुंचाकर अपने दस्तावेज लगा रहे हैं।
मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने किसानों को बड़ी राहत देते हुए आठ रुपए किलो प्याज खरीदने की घोषणा की थी। इसके जरीए उन किसानों को फायदा पहुंचाने का प्रयास था जिनको फसल की लागत भी नहीं मिल रही थी। घोषणा के बाद खरीदी शुरू हुई जिसमें किसान माल लेकर पहुंचे लेकिन अब मुनाफाखोरी का खेल शुरू हो गया है। कुछ व्यापारी जलगांव, नंदूरबार, नासिक, बगलाच से माल खरीदकर ला रहे हैं। गोदामों में नियमित गाडिय़ां उतर रही हैं।

चौंकाने वाली बात ये है कि महाराष्ट्र में भी किसानों ने प्याज के दाम बढ़ा दिए हैं। शुरुआत में दो रुपए किलो प्याज बेच रहे थे लेकिन अब उन्होंने कीमत बढ़ा दी है। ऐसे में व्यापारियों की कमाई थोड़ी कम हुए है लेकिन फिर भी मुनाफा मिल रहा है। चार रूपए किलो खरीद कर लाने पर एक रुपए किलो भाड़ा लग रहा है तब भी तीन रुपए किलो मुनाफा मिल रहा है। ऐसे में एक रुपए किलो उन किसानों को दिया जा रहा है जो कि ट्राली लेकर मंडी की कतार में लगे हुए हैं। बताया जा रहा है कि एक ट्रक के पीछे व्यापारियों ने दो से ढाई लाख रुपए तक की कमाई की।

असली किसान हो रहा परेशान
मुनाफाखोरी के इस खेल में असली किसानों की फजीहत हो गई है। व्यापारियों के प्रतिनिधि बनकर पहुंचे किसानों की वजह से लाइनें लंबी हो गई हैं। दो-दो दिन में नंबर आ रहा है, जिसकी वजह से असली और गरीब किसान मुसिबत में हैं। उसके सामने संकट है कि समय पर सरकार को प्याज नहीं दिया तो कोडिय़ों के दाम पर बेचना पड़ेगा। हालांकि सरकार ने 30 जून तक की तारीख तय कर रखी है लेकिन बड़े पैमाने पर प्याज की आवक देखकर हो सकता है कि सरकार समय सीमा घटा दे।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???