Patrika Hindi News

फ्रांस के आर्मी अफसरों ने किया बाबा साहेब आंबेडकर को सैल्यूट

Updated: IST french army officer get training in mhow
फ्रांस के आर्मी अफसरों ने बाबा साहेब की जीवन संघर्ष एवं राष्ट्र सेवाओं के बारे में जानकर उनकी प्रतिमा पर सेल्यूट किया है।

इंदौर. फ्रांस के आर्मी अफसरों ने बाबा साहेब डॉ. भीमराव आंबेडकर को सेल्यूट किया है। दरअसल फ्रांस के आर्मी अफसर महू आर्मी में साझा ट्रेनिंग प्रोग्राम में हिस्सा लेने आए थे, इस दौरान वे महू स्थित आंबेडकर स्मारक को बाहर से देख तो उन्होंने पूरा देखने की इच्छा जाहिर की।

स्मारक प्रभारी मोहन राव वाकोड़े ने बताया कि फ्रांस के आर्मी अफसरों ने बाबा साहेब की जीवन संघर्ष एवं राष्ट्र सेवाओं के बारे में जानकर उनकी प्रतिमा पर सेल्यूट किया है।

यह भी पढ़ें:- आंबेडकर स्मारक की आधारशीला रखने महू आए थे पूर्व मुख्यमंत्री पटवा

यहां अफसरों ने बाबा साहेब की महारेजीमेंट के बारे में समझा, जिसका मुख्यालय सागर में स्थित है। उन्होंने कहा कि हम गौरवांवित है कि हम ऐसी जगह पर आए। अफसरों ने बाबा साहेब के अस्ती कलश के पास जाकर नमन किया। इसके साथ ही स्मारक को देखा। उन्होंने यहां के मेडिटेशन कार्यक्रम के बारे में भी जाना।

french army officer get training in mhow

विशेष ट्रेनिंग के लिए आए

फ्रांस के आर्मी अफसर महू में आर्मी की विशेष साझा टे्रनिंग के तहत आए हुए है। इस दौरान आर्मी क्षेत्र में दौरा कर रहे थे, तभी स्मारक को देखा तो इच्छा जताई। इस दौरान आर्मी अफसरों के बारे में जानकारी ली और हतप्रत रह गए।

यह भी पढ़ें:- शिक्षक ने जाति सूचक शब्द कहे, फिर आंबेडकर स्मारक पर कान पकड़कर मांगी माफी

विस्तार से समझा बााबा साहेब का जीवन काल

महिलाओं के अधिकारों के लिए बााबा साहेब ने लड़ाई लड़ी थी, उसके बारे में भी जानकारी ली। बाबा साहेब हिंदू कोर्ट बिल की मांग को लेकर बाबा साहेब ने त्यागपत्र दे दिया था, इसके बारे में भी जानकारी ली। इसके साथ ही भारत के संविधान देते हुए चित्र देख जानकारी ली, जिससे वे काफी प्रभावित हुए। वहीं बाबा साहेब के पिताजी की आर्मी ड्रेस देखी तो कहा, कि यह कौन है। फिर उन्हें बताया कि यह बाबा साहेब के पिताजी है, ब्रिटिश आर्मी में वे सुबेदार के पद पर थे।

babasaheb bhimrao ambedkar mhow.

महू में ब्रिटिश आर्मी द्वारा दिया गया उनके पिताजी के क्वाटर में बाबा साहेब का जन्म हुआ था। इस पर उन्होंने कहा, कि बाबा साहेब भी आर्मी की संतान है। इसके बाद उन्होंने कोलंबिया विवि की नूरल्स देखी तो कहा कि लंदन का है। बाबा साहेब की 18-18 घंटे की पढ़ाई के बारे में भी जानकारी ली।

यह भी पढ़े :
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ?भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???