Patrika Hindi News

10 माह तक पीछा 10 मिनिट पहले धमकी, एकतरफा प्यार में फेंक दिया एसिड

Updated: IST acid attack
बाणगंगा इलाके में एसिड अटैक का शिकार हुईं यशोदा का पीछा आरोपित नेपाल सिंह 10 महीने से कर रहा था। प्यार स्वीकार नहीं करने पर उसके चेहरे पर एसिड फेंक दिया।

इंदौर. एकतरफा प्यार में असफलता से खिन्न युवक ने साथी के साथ महिला पर एसिड फेंक दिया। महिला को 20 फीसदी जली अवस्था में एमवाय अस्पताल ले जाया गया। बाणगंगा मेन रोड निवासी यशोदाबाई (35) पति जगदीश राजपूत पर शुक्रवार सुबह 8 बजे बाइक पर आए नेपालसिंह निवासी भवानी नगर ने एसिड फेंक दिया। उसके साथ बाइक पर साथी अरुण भी था।

घटना को अंजाम देकर दोनों भाग निकले। एसिड महिला के गले, गाल व हाथ पर गिरा। तकलीफ के चलते महिला चिल्लाई तो लोगों ने उसकी हालत देख तुरंत 108 एम्बुलेंस बुलवाकर एमवाय अस्पताल भिजवाया। सूचना मिलने पर एसपी अवधेश प्रताप सिंह, एएसपी संपत उपाध्याय, सीएसपी अजय जैन व टीआई बाणगंगा विनोद दीक्षित एमवाय अस्पताल पहुंचे और पीडि़त महिला व उसके परिजन से बात की। इसके बाद घटना स्थल पर भी गए।

acid attack

10 माह पीछा, 10 मिनट पहले धमकी और फिर अटैक

बाणगंगा इलाके में एसिड अटैक का शिकार हुईं यशोदा का पीछा आरोपित नेपाल सिंह 10 महीने से कर रहा था। वह यशोदा पर साथ रहने का दबाव डालता रहा। महिला ने हर बार उसे इनकार किया तो घटना के 10 मिनट पहले उसने महिला को तेजाब डालने की धमकी दी थी।

शुक्रवार सुबह जब नेपाल सिंह की धमकी को यशोदा ने गंभीरता से नहीं लिया। 10 मिनट बाद ही सुबह 8 बजे यशोदाबाई सांवेर रोड पर गोरानी इंड्रस्ट्रीज में काम करने के लिए मारुति वैन से दीपमाला ढाबे के पास उतरकर पास की गली तक पहुंचीं। तभी नेपालसिंह साथी अरुण के साथ बाइक पर आया और एसिड फेंक दिया। अचानक हुए हमले से भौंचक यशोदा कुछ समझ पाती कि उसे गले, गाल व हाथ पर गिरे एसिड से तेज जलन होने लगी।

Must Read

वह जोरों से चीखी तो लोग जमा हो गए। इस बीच नेपाल सिंह व उसका साथी भाग निकले। लोगों ने यशोदा की हालत देखी तो तुरंत 108 एम्बुलेंस से एमवाय अस्पताल भिजवाया। जानकारी मिलने पर महिला की छोटी बेटी पूनम व उसके ससुराल के लोग भी अस्पताल पहुंच गए। उन्होंने बताया कि एसिड अटैक से 20 प्रतिशत झुलसने और गले में घाव होने से उन्हें बोलने में तकलीफ हो रही है।

आरोपितों पर बीस हजार का इनाम : एसपी पूर्व अवधेश गोस्वामी ने फरार आरोपितों की गिरफ्तारी पर बीस हजार रुपए का इनाम घोषित किया है।

दामाद के हाथ-पैर काटने की धमकी
यशोदाबाई ने बमुश्किल बताया, 'पति जगदीश राजपूत मथुरा में खेती करते हैं। 4 साल पहले वह काम की तलाश में इंदौर आई थी। 10 महीने से नेपाल सिंह परेशान कर साथ रहने के लिए दबाव बना रहा था। पहले भी कई बार उसने तेजाब फेंक देने की धमकी दी थी। दिसंबर में छोटी बेटी पूनम की शादी के समय भी दबाव बनाया था। बेटी की शादी नहीं होने देने व दामाद के हाथ-पैर काट देने की धमकी देने लगा। तब बाणगंगा थाने पर शिकायत की थी। रविवार को भी फैक्ट्री जाते समय नेपालसिंह ने रोक कर काफी विवाद किया। मुझे नहीं लगा था कि वह सही में एसिड फेंक देगा। उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए।

तलाश जारी है
बाणगंगा टीआई विनोद दीक्षित ने बताया, 'आरोपितों के खिलाफ हत्या का प्रयास व एसिड अटैक की धारा में केस दर्ज किया है। दोनों की तलाश की जा रही है। उनका पुराना कोई रिकॉर्ड नहीं है। पहले जब महिला ने शिकायत की थी, तब नेपाल सिंह के खिलाफ प्रतिबंधात्मक कार्रवाई कर उसे जेल भेजा था।

acid attack

दोषी भी जीवनभर भुगते सजा : लक्ष्मी

इंदौर. 2005 में एसिड़ अटैक का शिकार हुई दिल्ली की लक्ष्मी अग्रवाल की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने पूरे देश में एसिड पर रोक लगाई, लेकिन महिलाओं पर एसिड अटैक जारी हैं। बाणगंगा इलाके में शुक्रवार सुबह हुए एसिड अटैक के बाद 'पत्रिका' से चर्चा करते हुए लक्ष्मी ने तीन बातों पर जोर देते हुए कहा, 'ऐसे मामले में सरकार गंभीर हो, कानून सख्त हो और जल्द सुनवाई कर फैसला किया जाए। आरोपित अधिकांश घटनाओं में चेहरे को निशाना बनाते है, ताकि पीडि़ता जीवन भर परेशान रहे। ऐसे में उसे भी ऐसी सजा मिले, जिसे वह जीवन भर भुगते। '

यह भी पढ़े :
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं? निःशुल्क रजिस्टर करें ! - BharatMatrimony
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???