Patrika Hindi News

> > > > married women kidnapped gang raped at mhow

पुलिस की चूक से अपहरण कर विवाहिता के साथ Gang Rape, तीन आरोपी गिरफ्तार

Updated: IST gang raped
आंबेडकर संस्थान के पीछे तालाब किनारे की घिनौनी हरकत, गायकवाड़ पुलिस चौकी पर विवाहिता ने बदमाशों के पीछा करने की, शिकायत की थी

डॉ. आंबेडकर नगर (महू). आंबेडकर संस्थान के पीछे बुधवार देर रात तीन बदमाशों ने एक विवाहित का अपहरण कर उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया। मामले में गायकवाड़ पुलिस चौकी की बड़ी चूक भी सामने आई क्योंकि विवाहिता ने बदमाशों के पीछा करने की सूचना चौकी में दी। पुलिस ने सुरक्षा मुहैया कराने के बजाए एक बाइक सवार को उसे घर छोडऩे की जिम्मेदारी दे दी।

राज मोहल्ला निवासी 25 वर्षीय विवाहिता बुधवार रात अपने मुहं बोले भाई के साथ मैजिक से पीथमपुर जा रही थी। बडग़ोंदा टीआई मनोहर मीणा ने बताया रास्ते में कुछ बदमाश उसका पीछा करने लगे। मैजिक वाहन उसका भाई ही चला रहा था। जैसे ही मैजिक वाहन गायकवाड़ पुलिस चौकी के पास पहुंचा, विवाहिता उसमें से कूद गई और उसका मुहंबोला भाई मैजिक लेकर वहां से निकल गया।

यह भी पढ़ें:-Video Icon प्रेमिका की हत्या कर दफनाया, कब्र के ऊपर सोता रहा यह LOVER

विवाहिता ने पुलिस चौकी में मौजूद पुलिस कर्मी को कुछ बदमाशों द्वारा उसका पीछा किए जाने की सूचना दी। पुलिस कर्मी ने उसे पुलिस वाहन में घर घुड़वाने में गंभीरता नहीं दिखाई। बल्कि महूगांव से बाइक पर आ रहे गवली पलासिया निवासी अब्दुल हकीक को रोका और महिला को उसके घर राज मोहल्ले छोडऩे के लिए कहा। युवक के साथ बाइक पर बैठ महिला महू की ओर जाने लगी। रास्ते में बाइक से फिर तीन बदमाश शुभम पिता बालकृष्ण खरे, विनय पिता रामकृष्ण खरे व शाकीर पिता छोटे खां निवासी डोंगरगांव पीछे आ गए और उन्हें रोका। बाइक चला रहे अब्दुल से डरा-धमकाकर कहा कि जहां हम बोलें वहां बाइक लेकर चल। उसके बाद वे आंबेडकर स्मारक के पीछे तालाब के बाइक को घेरते हुए ले गए। यहां तीनों बदमाशों ने विवाहित के साथ सामूहिक दुष्कर्म किया। यहां से अब्दुल भाग निकला और सूचना डोंगरगांव पुलिस को दी।

यह भी पढ़ें:- भाजपा में वार: विधायक समर्थकों ने महापौर के लिए चलाई सोशल मीडिया पर आरती

अंधरे में ढूंढती रही पुलिस, बदमाश का मोबाइल चमका तो पकड़ाए

टीआई मनोहर मीणा ने बताया अब्दुल के बताए स्थान अनुसार हम आंबेडकर स्मारक के पीछे हिस्से में टीम के साथ पहुंचे। यहां कीचड़ में काफी देर तक बदमाशों व विवाहिता की तलाश की लेकिन अंधेरा होने से कोई नजर नहीं आया। इस दौरान अंधेरे में अचानक एक बदमाश के मोबाइल की लाइट चमकी। जिसके आधार तीनों बदमाशों को मौके से धरदबोचा। उन्होंने विवाहिता का मुहं दबा रखा था, ताकि वे चिल्ला न सके। इस दौरान रात के डेढ़ बज चुके थे।

यह भी पढ़ें:- कैलाश के बयान की पटरी पर इंदौर की राजनीति में दौड़ी सवालों की 'मेट्रो'

तीनों बदमाशों को भेजा जेल

पुलिस ने तीनों बदमाश शुभम पिता बालकृष्ण खरे, विनय पिता रामकृष्ण खरे व शाकीर पिता छोटे खां निवासी के खिलाफ अपहरण, सामूहिक दुष्कर्म सहित विभिन्न धाराओं में प्रकरण दर्ज किया। गुरुवार को तीनों को न्यायालय में पेश किया, जहां से जेल भेज दिया गया।

 the victim was a minor

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे