Patrika Hindi News

> > > > mp bjp mla from Dharmapuri kalu singh thakur missing mystery

मुंह पर कपड़ा बांधकर फिल्मी स्टाइल में गायब हुए थे BJP MLA, फिर खुला राज

Updated: IST mp bjp mla from Dharmapuri kalu singh thakur missi
दो लोगों के बयानों से खुल रहा धरमपुरी विधायक के गायब होने और फिर मिल जाने का राज

धार/मांडू. धरमपुरी विधायक कालूसिंह ठाकुर 24 घंटे के भीतर नाटकीय ढंग से वापस आ गए। बुधवार सुबह छह बजे घर से मुंह पर कपड़ा बांधकर पीछे के रास्ते से जब जा रहे थे, तो उन्हें एक 15 वर्षीय किशोर ने देखा था। इसके बाद बामनपुरी में भी एक व्यक्ति ने ठाकुर को देखा था।

दोनों ने इसकी जानकारी पुलिस को दी। इसी आधार पर पुलिस ने ठाकुर को एक खेत से ढूंढ निकाला। उनके इस तरह से गायब होने से कई सवाल खड़े हो रहे है। ठाकुर वापस आने के बाद प्रशासन पर एकतरफा कार्रवाई करना बता रहे हैं। दरअसल उनके पीए शशिकांत चौहान और ड्राइवर मुकुट ने पीडी अग्रवाल कंपनी के लोगों से रुपए की मांग की थी।

यह भी पढ़ें:-कैलाश ने मचाई MP की भाजपा में हलचल, दिल्ली चुप

रुपए नहीं देने पर दोनों ने वाहनों में तोडफ़ोड़ की थी। पुलिस ने दोनों को गिरफ्तार कर लिया था। बस यही बात विधायक ठाकुर को अखर गई। बताया जाता है जमानत के बाद पीए के साथ बैठकर विधायक ने उसे नहीं बचा पाने का अफसोस भी जताया था।

किलारिया में बाइक से घूमते मिले : विधायक बामनपुरी से घूमते हुए रूपमति महल के नीचे के गांव किलारिया में एक खेत पर थे। पुलिस ने उसी गांव में उन्हें बाइक से घूमते हुए देख लिया और साथ ले गई। भाजपा विधायक ठाकुर अपनी कार्यशैली को लेकर हमेशा से सुर्खियों में रहे हैं। मानपुर टोल टैक्स पर टोल विवाद, सड़क निर्माण कंपनी से विवाद, सरकारी डॉक्टर की पिटाई, जमीनों पर अवैध कब्जे जैसे आरोपों से लगातार विधायक घिरे रहे हैं। मांडू में तिवारी बंधु भी अपनी होटल पर ठाकुर के क ब्जे की शिकायत कर चुके हैं। वन विभाग के सरकारी भवन पर कब्जे का आरोप भी विधायक

पर है।

यह भी पढ़ें:-Video Icon प्रेमिका की हत्या कर दफनाया, कब्र के ऊपर सोता रहा यह LOVER

विधायक से होगा जवाब-तलब : चौहान

भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष नंदकुमार सिंह चौहान ने कहा कि वे 36 घंटे तक बिना बताए गायब हुए धरमपुरी के विधायक कालूसिंह ठाकुर से जवाब-तलब करेंगे। यह गंभीर मामला है, इस तरह पार्टी के विधायक का गायब होना ठीक नहीं है। बुधवार को उनकी गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज होने के बाद से धार से लेकर भोपाल तक में हड़कंप मंच गया था। उनके परिजन ने एक ठेकेदार पर अपहरण का संदेह व्यक्त किया था।

ये सवाल...

1. पीडी अग्रवाल कंपनी ने विधायक के खिलाफ मामला दर्ज करवा रखा है, क्या यह घटनाक्रम कंपनी को

अपहरण के केस में फंसाने के लिए था?

2. पुलिस गिरफ्तार न कर ले, क्या इसी आशंका में खुद को गायब तो नहीं कर दिया था?

3. विधायक जैसे पद पर आसीन व्यक्ति लगातार 24 घंटे तक किसी खेत पर रहें और गनमैन व परिजन तक को जानकारी नहीं मिली, क्या ये संभव है?

4. विधायक को मुंह पर कपड़ा बांधकर जाने की क्या आवश्यकता थी?

5. शासन-प्रशासन से विधायक ने ऐसी क्या मदद मांगी थी, जिसे पूरा नहीं किया गया और अब विधायक कह रहे हैं कि मेरा साथ नहीं दिया?

...इसलिए चला गया था

पीए शशि चौहान पर झूठे आरोप लगने से काफी आहत हूं। शासन व प्रशासन ने भी मेरा साथ नहीं दिया। मैं यह क्षेत्र छोड़ कर चला गया था। कुछ समय के लिए मोबाइल डिस्चार्ज होने पर मैंं किसी से भी संपर्क नहीं कर पाया। मुझे नहीं पता था यह मामला इतना बड़ा हो जाएगा। सुबह अखबार में पढ़ा तो पता चला। पहले मोबाइल चार्ज कर एसपी से चर्चा की। मेरी तो यहां यू भी कोई नहीं सुनता है। मैं फिर से यहां से चला जाऊंगा।

- कालूसिंह ठाकुर, विधायक

जिम्मेदारों की वाणी...

-एसपी राजेश हिंगणकर ने इस मामले पर पत्रिका से कहा- जांच चल रही है। इस पर मैं कुछ नहीं कहंूगा।

-कलेक्टर श्रीमन शुक्ला बोले - मैं इस मामले में अभी कुछ नहीं बता सकता।

mla kalu singh thakur

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे