Patrika Hindi News

पीएम मोदी ने साकार किया गांधीजी का सपना, पहली बार 12117 गांवों में पहुंची सुविधा

Updated: IST prime minister narendra modi initiative for electr
इंदौर-उज्जैन संभाग के 12117 गांवों में अफसरों की सक्रियता से प्रधानमंत्री की पहल पर बिजली सुविधा पहुंची है।

इंदौर. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पहल से देश के ग्रामीण क्षेत्रों में बिजली पहुंचाई जा रही है। अंग्रेजों के शासनकाल के दौरान भारत की आजादी के सपने के साथ महात्मा गांधी ने देश के विकास के कई सपने देखे थे, जिनमें देश के गांवों में बिजली सुविधा पहुंचाने का सपना भी एक था। इंदौर-उज्जैन संभाग के 12117 गांवों में अफसरों की सक्रियता से प्रधानमंत्री की पहल पर बिजली सुविधा पहुंची है।

आजादी के 70 साल बीत गए प्रदेश में अभी भी कई ग्रामीण इलाके सूरज डूबने के बाद कंडील व दिए की रोशनी में जीने को मजबूर हैं, वहीं पश्चिम क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी ने अपने कार्य क्षेत्र में 100 फीसदी लक्ष्य हासिल करते हुए इंदौर-उज्जैन संभाग के सभी 12117 गांवों को रोशन कर दिया है। कंपनी ने जनवरी में बड़वानी के पहाड़ी इलाके में बसे गांव कोट बांदनी में बिजली पहुंचा कर गांवों में विद्युतीकरण का लक्ष्य पूरा किया।

यह भी पढ़ें:- आंबेडकर स्मारक की आधारशीला रखने महू आए थे पूर्व मुख्यमंत्री पटवा

सरकार गांव-गांव बिजली पहुंचाने में जुटी

बिजली के सरप्लस उत्पादन का तमगा हासिल करने के बाद अब प्रदेश सरकार गांव-गांव बिजली पहुंचाने में जुटी है। पश्चिम क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के अधिकारियों के मुताबिक अप्रैल-2015 में विस्तृत सर्वे के मुताबिक 86 दुर्गम गांवों में बिजली नहीं पहुंच सकी थी। इनमें सबसे अधिक गांव बड़वानी व आलीराजपुर जिले से थे। कंपनी ने योजना बना कर 71 गांवों के लिए काम शुरू किया और तार व केबल के माध्यम से विद्युतीकरण कर बिजली पहुंचाई गई। शेष बचे 15 गांव फीडर से काफी दूर होने से तार व खंबों के माध्यम से बिजली पहुंचना मुश्किल था। इन्हें अपरंपरागत स्त्रोत सोलर से रोशन करने की योजना बनाई गई। ऊर्जा विकास निगम ने केंद्र की योजना के तहत टेंडर भी जारी किए गए, लेकिन इनकी लागत दोगुनी होने, मेटेंनेंस की समस्या और लंबे समय तक उपयोगी नहीं होने से वापस ले लिए गए। बाद में कंपनी ने केंद्रीय विद्युतीकरण योजना के तहत इसे लेकर परंपरागत बिजली का स्थायी नेटवर्क बनाया।

यह भी पढ़ें:- शिक्षक ने जाति सूचक शब्द कहे, फिर आंबेडकर स्मारक पर कान पकड़कर मांगी माफी

prime minister narendra modi initiative for electr

कोट बांदनी में 8 माह में पहुंची रोशनी

बड़वानी से 150 किमी दूर पहाड़ी क्षेत्र में स्थित कोट बांदनी में बिजली पहुंचाना कठिन कार्य था। 8 माह की मशक्कत के बाद 500 से कम आबादी वाले इस गांव को जनवरी में रोशन किया। कंपनी के सीएमडी आकाश त्रिपाठी ने कहा कि कार्य क्षेत्र में फीडर सेपरेशन का काम पूरा कर केंद्र व राज्य सरकार की योजनाओं से हर गांव का विद्युतीकरण पूरा कर लिया है।

यह भी पढ़े :
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं? निःशुल्क रजिस्टर करें ! - BharatMatrimony
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???