Patrika Hindi News

दिसंबर में निर्यात 5.72 फीसदी बढक़र 2388.50 करोड़ डॉलर 

Updated: IST export
देश का निर्यात गत दिसंबर में लगातार तीसरे महीने 5.72 फीसदी बढक़र 2388.50 करोड़ डॉलर हो गया जबकि दिसंबर 2015 में यह आंकड़ा 2259.34 करोड़ डॉलर रहा था।

नई दिल्ली। देश का निर्यात गत दिसंबर में लगातार तीसरे महीने 5.72 फीसदी बढक़र 2388.50 करोड़ डॉलर हो गया जबकि दिसंबर 2015 में यह आंकड़ा 2259.34 करोड़ डॉलर रहा था। सरकार के गुरुवार जारी आंकड़ोंके अनुसार वर्ष 2016 में अप्रैल से दिसंबर की अवधि में भारतीय निर्यात 0.75 फीसदी बढक़र 19880.78 करोड़ डॉलर हो गया है। वर्ष 2015 की इसी अवधि में यह 19733.36 करोड़ डॉलर दर्ज किया गया था। आंकड़ों में बताया गया है कि दिसंबर 2016 में आयात 0.46 फीसदी बढक़र 3425.43 करोड़ डॉलर का रहा है। दिसंबर 2015 में 3409.65 करोड़ डॉलर का आयात किया गया था। अप्रैल से दिसंबर 2016 की अवधि में कुल आयात 7.42 फीसदी गिरकर 27535.59 करोड़ डॉलर रहा है जबकि अप्रैल से दिसंबर 2015 की अवधि में यह 29741.09 करोड़ डालर रहा था। आंकड़ोंके अनुसार, दिसंबर 2016 में अमरीका के निर्यात में 1.21 प्रतिशत, चीन में 7.45 प्रतिशत और यूरोपीय संघ में 6.27 प्रतिशत की गिरावट हुई

आंकड़ों में बताया गया है कि दिसंबर 2016 में गैर तेल निर्यात 5.4 प्रतिशत बढकर 2111.77 करोड़ डॉलर हो गया है जबकि दिसंबर 2015 में यह 2003.62 करोड़ डॉलर रहा था। अप्रैल से दिसंबर 2016 की अवधि में गैर-तेल निर्यात 2.2 फीसदी बढक़र 17683.12 करोड़ डॉलर रहा है। अप्रैल से दिसंबर 2015 की अवधि में यह आंकड़ा 17296.01 करोड़ डॉलर रहा था। दिसंबर 2016 में तेल आयात 14.61 फीसदी बढक़र 764.54 करोड़ डॉलर हो गया है जबकि दिसंबर 2015 में यह 667.06 करोड़ डॉलर रहा था। अप्रैल से दिसंबर 2016 में तेल आयात 10.29 प्रतिशत गिरकर 6092.18 करोड़ डॉलर रह गया है। इससे पिछले वर्ष की इसी अवधि में यह आँकडा 6826.74 करोड़ डॉलर रहा था। दिसंबर 2016 में गैर-तेल आयात 2.98 प्रतिशत गिरकर 2660.89 करोड़ डॉलर रह गया है। दिसंबर 2015 में यह आँकडा 2742.59 करोड़ डॉलर दर्ज किया गया था। अप्रैल से दिसंबर 2016 के दौरान गैर-तेल आयात घटकर 21443.41 करोड़ डॉलर रहा गया है। अप्रैल से दिसंबर 2016 की अवधि में गैर-तेल आयात 22914.35 करोड़ डॉलर रहा था। अप्रैल से दिसंबर 2़016 की अवधि में अनुमानित व्यापार घाटा 23.51 फीसदी कम होकर 7654.82 करोड़ डॉलर रह गया है। अप्रैल से दिसंबर 2015 की अवधि में व्यापार घाटा 10007.72 करोड़ डॉलर रहा था।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ?भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???