Patrika Hindi News

दोपहिया वाहनों की बिक्री में जबदस्त उछाल

Updated: IST two wheelers
बजाज ऑटो के अलावा अधिकतर दोपहिया वाहन निर्माता कंपनियों के लिए पिछला वित्त वर्ष बहुत अच्छा रहा। होंडा मोटरसाइकिल एंड स्कूटर इंडिया प्राइवेट लिमिटेड, हीरो मोटोकॉर्प और टीवीएस जैसी दोपहिया वाहन निर्माता कंपनियों की बिक्री गत वित्त वर्ष में रिकॉडतोड़ बढ़ी।

नई दिल्ली. बजाज ऑटो के अलावा अधिकतर दोपहिया वाहन निर्माता कंपनियों के लिए पिछला वित्त वर्ष बहुत अच्छा रहा। होंडा मोटरसाइकिल एंड स्कूटर इंडिया प्राइवेट लिमिटेड, हीरो मोटोकॉर्प और टीवीएस जैसी दोपहिया वाहन निर्माता कंपनियों की बिक्री गत वित्त वर्ष में रिकॉडतोड़ बढ़ी। होंडा ने तो गत 31 मार्च को समाप्त वित्त वर्ष में 12 प्रतिशत की वृद्धि दर से 50 लाख बिक्री का आंकड़ा पार करते हुए कुल 50,08,103 वाहनों की बेचकर नया विश्व रिकार्ड ही बना लिया है।

इससे पिछले वित्त वर्ष में यह आंकड़ा 44,83,462 वाहन रहा था। हालांकि, दोपहिया वाहन कंपनियों की वृद्धि दर गत वित्त वर्ष पांच प्रतिशत रही है। आलोच्य वित्त वर्ष में घरेलू बाजार में होंडा की हिस्सेदारी भी बढ़कर 27 फीसदी हो गई। होंडा का एक्टिवा गत साल भारत तथा पूरी दुनिया में सबसे अधिक बिकने वाला दोपहिया वाहन भी रहा।

आलोच्य अवधि में कंपनी के ऑटोमैटिक स्कूटरों की बिक्री 16 प्रतिशत बढ़कर पहली बार 30 लाख के आंकड़े के पार 33,51,604 पर पहुंची है। इससे पिछले वित्त वर्ष में उसने 28,92,480 वाहन बेचे थे। निर्यात उद्योग में गत वित्त वर्ष में छह फीसदी की गिरावट रहने के बावजूद होंडा के लिए निर्यात सबसे सफल हिस्सा रहा। कंपनी के निर्यात में 41 प्रतिशत का जबरदस्त उछाल देखा गया और यह 2,00,114 इकाई से बढ़कर 2,83,153 इकाई पर पहुंच गया।

दुनिया की सबसे बड़ी दोपहिया वाहन निर्माता कंपनी हीरो मोटोकॉर्प की बिक्री में गत वित्त वर्ष उछाल देखा गया। कंपनी ने आलोच्य अवधि में कुल 66,63,903 वाहन बेचे, जबकि इससे पिछले वित्त वर्ष में उसने 66,32,322 वाहनों की बिक्री की थी। कंपनी ने मार्च 2017 में कुल 6,09,951 इकाइयां बेची, जबकि मार्च 2016 में उसने 6,06,542 वाहनों की बिक्री की थी। हीरो मोटोकॉर्प ने आलोच्य वित्त वर्ष में पांच महीने बिक्री में छह लाख वाहनों का आंकड़ा पार किया।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं? निःशुल्क रजिस्टर करें ! - BharatMatrimony
LIVE CRICKET SCORE

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???