Patrika Hindi News

Video Icon VIDEO: खतरनाक नजारा, यहां मौत की छलांग से इसलिए बच जाते हैं ये बच्चे

Updated: IST jump
नर्मदा मैया की महिमा के बारे में अब तक आपने अनेक बार सुना होगा। मौसम के अनुसार नर्मदा तटों का नजारा भी बदल जाता है।

जबलपुर। नर्मदा मैया की महिमा के बारे में अब तक आपने अनेक बार सुना होगा। मौसम के अनुसार नर्मदा तटों का नजारा भी बदल जाता है। फिलहाल नर्मदा के ग्वारीघाट तट पर प्रवासी पक्षियों का डेरा है। हजारों की संख्या में विभिन्न प्रजाति के पक्षी यहां देखने मिल रहे हैं। इन्हीं परिंदों के बीच आज नर्मदा मैया के तट पर एक बच्चा दिखाई दिया। जो कभी इन्हें दाना डाल रहा था तो कभी इन्हें पकडऩे का प्रयास कर रहा था।

यहां आपको बता दें कि नर्मदा तटों पर निवास करने वाले नाविकों और उनके बच्चों को यहां अनोखी कलाबाजियां करते हुए अक्सर देखने मिलता है। नदी में खतरनाक स्टंट करने के अलावा ये नारियल या नदी में डाले जाने वाले सिक्कों के लिए मौत की छलांग लगा देेते हैं।

ऐसे नजारे ग्वारीघाट, तिलवाराघाट सहित अन्य तटों पर आम हैं, लेकिन सबसे खतरनाक दृश्य भेड़ाघाट धुआंधार में देखने मिलता है। यहां चंद पैसों के लिए बच्चे उफनाते फॉल में कूद जाते हैं। मान्यता है कि इन पर मैया का विशेष आशीर्वाद है जिसकी वजह से ये हर बार ही सुरक्षित बाहर निकल आते हैं। यहां यह भी महत्वपूर्ण है कि नाविकों के घर में जन्म लेने की वजह से ये लोग बचपन से ही तैराकी में माहिर होते हैं। जिसकी वजह से खतरनाक और तेज बहाव में भी आराम से तैरकर पार निकल जाते हैं।

किसी भी मौसम में नर्मदा के ऊपर सूर्य की किरणों के साथ ही भाप भी निकलती हुई दिखाई देती है। नर्मदा के जल की खासियत है कि यहां कड़कड़ाती ठंड में भी सुबह के समय स्नान करने पर पानी गरम ही महसूस होता है। जिसकी वजह से नर्मदा भक्त घने कोहरे के बीच भी यहां देखने मिलते हैं।

narmada

यह भी पढ़े :
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ?भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???