Patrika Hindi News

Photo Icon यहां कुत्ते खा रहे मिड-डे मील, जानिए क्या है कारण

Updated: IST Dog eating mid-day meal of schools in Katni
सड़क किनारे कर्मचारियों ने फेंका खाना, बच्चों के मुंह तक नहीं पहुंच रहा निवाला

कटनी। बच्चों का शिक्षा के प्रति रूझान बढ़े और प्रदेश का शैक्षणिक स्तर मजबूत हो इस मंशा को लेकर आंगनबाड़ी, माध्यमिक स्कूल और माध्यमिक स्कूलों में प्रदेश सरकार मिड-डे मील जैसी महत्वाकांक्षी योजना चला रही है। कटनी जिले में इस योजना की क्या हकीकत है एक तस्वीर को देखकर आप अंदाजा लगा लेंगे। शहर के स्कूलों में पढऩे वाले बच्चों के मुंह तक निवाला पहुंचे या न पहुंचे लेकिन कुत्ते जमकर दावत उड़ाते हैं। मध्यान्य भोजन बांटने वाले कर्मचारी सड़क किनारे भोजन फेंक देते हैं और फिर उसे कुत्ते और अन्य जानवर खाते हैं।

सड़क किनारे फेंका भोजन
नौनिहालो का भोजन कटनी में कुत्ते खा रहे हैं। यह तस्वीर गुरुवार दोपहर माधवनगर से एसीसी मार्ग की है। कर्मचारी वाहन से स्कूलों में जाकर मध्यान्ह भोजन देकर आते हैं। लेकिन गुरुवार को यह भोजन स्कूल पहुंचने से पहले ही सड़क के किनारे फेंक दिया गया। कर्मचारियों ने ऐसा क्यों किया, उन्होंने इसका जवाब तो नहीं दिया, लेकिन व्यवस्था की तस्वीर जरुर सामने आई है। स्थानीय निवासी राजा जगवानी ने बताया कि यह पहली मर्तबा नहीं है जब यहां पर खाना फेंका गया हो, आए दिन यहां पर स्कूल में बंटने वाले मिड-डे मील को फेंका जा रहा है।

Dog eating mid-day meal of schools in Katni

नियमों की अनदेखी
उल्लेखनीय है कि किसी भी स्कूल में दर्ज संख्या व दिन के मीनू अनुसार मध्यान्ह भोजन बनता है। भोजन बनाने वाली कंपनी उसी मान से मध्यान्ह भोजन तैयार करती है और फिर स्कूलों तक पहुंचाती है। अब गौर करने योग्य बात यह है कि खाना सड़क किनारे क्यों फेंका गया। या तो वह स्कूल तक नहीं पहुंचाया गया या फिर स्वादिष्टहीन होने के कारण बच्चों ने नही खाया।

मंशा पर फिर रहा पानी
अभिभावक अपने बच्चों को स्कूल इसलिए भेजते हैं कि वहां पर शिक्षा के साथ-साथ अच्छे संस्कार मिलेंगे। बच्चों को अच्छी आदतें सिखाई जाएंगी। यहां पर मिलने वाले मध्यान्ह भोजन से बच्चे तंदुरुस्त होंगे। मध्यान भोजन में बरती जा रही इस तरह की लापरवाही से माता-पिता की मंशा और शिक्षा विभाग की मंशा पर पानी फिर रहा है। इतना ही नहीं मीनू अनुसार बच्चों को भोजन भी नहीं मिल रहा है और जिम्मेदार बेखबर हैं।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???