Patrika Hindi News

इस सरकारी अस्पताल में होंगे (आर्गन ट्रांसप्लांट) अंग प्रत्यारोपण

Updated: IST organ transplant, organ transplant in govt hospita
पीएस ने मेडिकल में ली अधिकारियों की बैठक, कहा तैयारी शुरू करें, लाइसेंस लें, बनाएं ग्रीन कॉरिडोर

जबलपुर। मेडिकल कॉलेज अस्पताल के विभागों में किन संसाधनों की जरूरत है। सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल और जो अलग से विभाग बन रहे हैं। इनका काम कितना पहुंचा। सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल तैयार होने के बाद आर्गन ट्रांसप्लांट किया जा सकता है। इसके लिए क्या संसाधन की आवश्यकता है। आप बताएं और प्रक्रिया शुरू करें। आर्गन ट्रांसप्लांट के लिए आवेदन भी करें। यदि इमरजेंसी में कोई आर्गन डोनेट हो रहा है और यहां प्रत्यारोपण की व्यवस्था नहीं है तो ग्रीन कॉरिडोर बनाना सुनिश्चित करें। यह बात लोक स्वास्थ्य परिवार कल्याण एवं चिकित्सा शिक्षा विभाग की प्रमुख सचिव गौरी सिंह ने गुरुवार को मेडिकल कॉलेज अस्पताल में अधिकारियों से बैठक में कही।

इन विषयों पर स्वीकृति
- न्यूरो सर्जरी विभाग के लिए आवश्यक बजट
- टीबी चेस्ट विभाग में एमडी व डीम कोर्स में प्रवेश
- टीबी व चेस्ट विभाग में एडवांस उपकरणों के लिए चार करोड़
- मेडिसिन विभाग में इंडोक्राइनोलॉजिस्ट की नियुक्ति
- शिशु रोग विभाग में दो डॉक्टरों की नियुक्ति
- फॉरेंसिक मेडिसिन में डॉक्टरों की ट्रेनिंग
- स्वशासी कर्मचारियों के लिए न्यू पेंशन स्कीम
- स्वशासी डॉक्टर्स के लिए समयमान वेतनमान

पीएस सिंह ने कहा कि आर्गन ट्रांसप्लांट के लिए मेडिकल कॉलेज द्वारा विधिवत अनुमति लेने की प्रक्रिया श्ुारू कर दें। ट्रांसप्लांट कोऑर्डिनेटर की ट्रेनिंग और राज्य शासन से बे्रन डेड डिक्लीयरेशन कमेटी बनाई जाएगी। मेडिसिन विभाग के एचओडी डॉ. राहुल राय ने आर्गन ट्रांसप्लांट का प्रजेंटेशन दिया। नए एक्ट को प्रदेश में प्रभावी करने की मांग की। टीबी एवं चेस्ट विभाग से मौतें कम करने को टास्क फोर्स बनाया जाएगा।

इसके नोडल अफसर विभाग के एचओडी डॉ. जीतेन्द्र भार्गव बनाए जाएंगे। ईएनटी विभाग की एचओडी डॉ. कविता सचदेवा ने बच्चों के कॉकलियर इम्प्लांट के उपकरण, गला कैंसर के लेजर और बिना अनुमति के शुरू वायस थैरेपी कोर्स के परीक्षा परिणाम जारी कराने का प्रस्ताव रखा। डीन डॉ. रूपलेखा चौहान ने अंगदान के लिए अब तक हुए प्रयासों की जानकारी दी। बैठक में कमिश्नर गुलशन बामरा, अधीक्षक डॉ. राजेश तिवारी, कैंसर हॉस्पिटल के अधीक्षक डॉ. प्रदीप कसार सहित सभी एचओडी उपस्थित थे।

निर्माणाधीन प्रोजेक्ट का निरीक्षण
पीएस गौरी सिंह ने सुपर स्पेशिलिटी हॉस्पिटल, न्यूरो सर्जरी, टीबी चेस्ट व स्टेट कैंसर हॉस्पिटल का निरीक्षण किया। उनके पूछने पर बताया गया कि इसमें रोड का प्रस्ताव यूनिवर्सिटी भेजा जाना है। उन्होंने मेडिकल यूनिवर्सिटी के पीएस और अन्य अफसरों की बैठक ली।

सर्जरी की ली जानकारी
पीएस ने जेडी ऑफिस में हुई बैठक में जिला अस्पताल में होने वाली सर्जरी की जानकारी ली। अस्पताल अधीक्षक डॉ. एके सिन्हा ने बताया कि यहां अत्याधुनिक तकनीक से जटिल सर्जरी हो रही हैं। शिशु एवं मातृ मृत्यु दर के सम्बन्ध में जानकारी ली। इस दौरान मातृ एवं शिशु मृत्यु दर पर कान्हा में होने वाले आयोजन की जानकारी दी गई। बैठक में सीएमएचओ डॉ. एमएम अग्रवाल सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???