Patrika Hindi News

लोसपा के इन नेताओं ने डाली डकैती, दलित महिला से की छेड़छाड़, कलेक्टर ने की ये बड़ी कार्रवाई

Updated: IST Democratic Socialist Party
हत्या का प्रयास, अवैध हथियार रखने का भी दर्ज है मुकदमा

कटनी। लोकतांत्रित समाजवादी पार्टी के नेताओं पर जिला प्रशासन ने बड़ी कार्रवाई की है। जिलाध्यक्ष ने एसपी के प्रतिवेदन पर डकैती, दलित महिला से छेड़छाड़ सहित अन्य संगीन अपराधों में लिप्त होना पाए जाने पर जिला बदर की कार्रवाई की है। इस कार्रवाई को जहां राजैनतिक दबाव के चलते होना बताया जा रहा है तो वहीं लोगों में चर्चा है कि किसानों, गरीबों, शोषितों के मुद्दे उठाने वालों के खिलाफ ऐसी कार्रवाई कर उनकी अवाज को दबाने का प्रयास किया जा रहा है। वहीं इस कार्रवाई को बेवजह बताया जा रहा है।

यह है मामला
जानकारी के अनुसार एसपी शशिकांत शुक्ला के प्रतिवेदन पर कलेक्टर विशेष गढ़पाले ने 3 लोगों को जिलाबदर किया है। आदेश की तामीली के 24 घंटे के भीतर दोनों को जिले की राजस्व सीमाओं के साथ ही जबलपुर, सतना, पन्ना, दमोह और उमरिया की राजस्व सीमाओं से बाहर एक वर्ष तक के लिए जाने के आदेश दिए गए हैं। इसमें लोकतांत्रिक समाजवादी पार्टी के जिलाध्यक्ष विंदेश्वरी पटेल, चैतू पटेल सहित भैरव सिंह शामिल हैं। इन पर विभिन्न थानों एवं न्यायालयों में हत्या का प्रयास, डकैती की तैयारी, मारपीट, गाली गलौज, जान से मारने की धमकी, अपराध के उद्देश्य से आग्नेय शस्त्र धारदार शस्त्र कब्जे में रखना, दलित महिला के साथ छेड़छाड़ व मारपीट करना, बलवा समेत अन्य अपराधों में शामिल होने के आरोप हैं।

भाजपा नेताओं के दबाव में कार्रवाई
उल्लेखनीय है कि अभी हाल ही में विंदेश्वरी पटेल ने किसानों की समस्या पर आंदोलन किया था। जिस पर पुलिस-प्रशासन ने गिरफ्तार कर जेल में डाल दिया था। वहां पर प्रताडि़त किया गया। पटेल की रिहाई के लिए प्रदर्शन के बाद छोड़ा गया। वहीं दूसरे दिन कलेक्टर द्वारा जिला बदर की कार्रवाई की गई है। बताया जा रहा है कि विंदेश्वरी व चैतू पटेल लगातार जिले में किसानों, गरीबों के साथ हो रहे अत्याचार आदि का मुद्दा उठाते रहे हैं। इस संबंध में चैतू पटेल का आरोप है कि राजनैतिक दबाव के चलते कार्रवाई की गई है। भाजपा नेताओं के कहने पर अन्यायपूर्ण कार्रवाई हुई है।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???