Patrika Hindi News

प्राइवेट कालेज के कई टीचर हुए ब्लेक लिस्टेड, बिना कापी जांचे ही दे देते थे नंबर

Updated: IST 3
सामने आया बड़ा फर्जीवाड़ा, रायपुर यूनिवर्सिटी ने की कार्रवाई

जबलपुर।शहर के एक प्राइवेट कालेज के कई टीचर्स वाकई गुरु निकले। ये टीचर्स बिना कापी जांचे ही नंबर दे देते थे। रिवेल्यूशन की कापी जांचने में यह गफलत की जा रही थी। गड़बड़ी सामने आते ही रायपुर के पंडित रविशंकर शुक्ल महाविद्यालय ने इनपर कार्रवाई की है। इन सभी आरोपी टीचर्स को यूनिवर्सिटी ने ब्लेक लिस्टिेड कर दिया है।

कालेज परीक्षाओं की कापी जांचने में एक बड़ी गड़बड़ी सामने आई है। जबलपुर के एक प्राइवेट कालेज माता गुजरी गर्ल्सकालेज के कुछ प्रोफेसर्स और टीचर्स बिना कापी जांचे ही नंबर देते पाए गए। इस कालेज के करीब सात टीचर्स और वरिष्ठ प्रोफेसर्स इस फर्जीवाड़े में लिप्त थे। रायपुर की रविशंकर शुक्ल यूनिवर्सिटी में कापी की जांच में गड़बड़ी के ये मामले सामने आए। माता गुजरी कालेज के टीचर्स रानू ठाकुर, कीर्ति बाजपेई, हरलिल रूपरा, शिवानी बासु, दीप्ति मिश्रा, पूनम शर्मा, सपना श्रीवास्तव इस मामले में शामिल हैं। इन सभी पर आरोप है कि रिवेल्यूएशन की कापी की जांचें बिना ही स्टूडेंट को नंबर दे देते थे।

READ ALSO-यह मशीन बताएगी 500 मीटर दूर से वाहन की स्पीड, पकड़े जाएंगे तेज रफ्तार वाहन

लंबे अर्से से चल रहा था फर्जीवाड़ा

बताया जा रहा है कि यूनिवर्सिटी के कुछ कर्मचारियों और टीचर्स की मिलीभगत से यह धंधा लंबे अर्से से चल रहा था। सेटिंग से ये टीचर्स उस कमेटी के मेंबर भी बन गए थे जो रिवेल्यूएशन में गड़बड़ी की शिकायत की जांच करती थी। इसके चलते खुद की कापी की जांच प्रोफेसर के खुद ही करने के चलते लंबे समय से ये खेल चला आ रहा था लेकिन आखिरकार इनकी पोल खुल ही गई।

कर दिया ब्लेक लिस्टिेड

मामला सामने आने के बाद रविशंकर शुक्ल यूनिवर्सिटी ने सभी आरोपियों पर कार्रवाई करते हुए उन्हें ब्लेक लिस्टिेड कर दिया है। अब ये सभी टीचर्स जीवन भर रायपुर यूनिवर्सिटी की परीक्षा की कापी जांचने का काम नहीं कर सकेंगे।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???