Patrika Hindi News

> > > > karva chauth- married women will be eagerly waiting for moon

Photo Icon
मधुर-मनुहार घर-घर में होंगे चांद के दीदार

Updated: IST karwachauth
करवा चौथ आज : चांद रोज निकलता है, लेकिन बुधवार को निकलने वाले चांद की बात कुछ और होगी। आसमान पर चांद चमकेगा, साथ ही हर घर में चांद जैसे सजना का भी दीदार होगा। चांदनी रात में एक-दूसरे को देखकर पत्नी-पत्नी का रिश्ता और गहरा होगा। प्रेम के पर्व करवा चौथ के लिए सिटी लेडीज ने एक दिन पहले जमकर तैयारी की।

जबलपुरदेर रात तक जहां मेहंदी एक्सपर्ट के पास हाथ सजाने के लिए भीड़ रही, वहीं लेडीज ब्यूटी पार्लर में ट्रीटमेंट करवाती हुईं नजर आईं। सजना के लिए खूबसूरत दिखने के लिए लेडीज करवा चौथ वाले दिन अट्रैक्टिव ड्रेसेज, सोलह शृंगार, ट्रेडिशनल लुक में नजर आएंगी। करवा चौथ का यह पर्व हर महिला के लिए खास होता है, क्योंकि वह इस दिन अपने पति की लम्बी आयु के लिए व्रत रखती है। साल भर इंतजार के बाद आने वाले इस पर्व के लिए सिटी लेडीज ने भी खूब तैयार की है। किसी का यह पहला करवा चौथ है तो कोई अपने होने वाले लाइफ पार्टनर के लिएव्रत रख रही है। आइए जानते हैं करवाचौथ को लेकर क्या तैयारी हैं सिटी लेडीज की।

हाथ पर चांद और पिया का फोटो
एक दिन पहले देर रात में महिलाओं ने मेहंदी से हाथ सजाए। हाथ पर खूबसूरत डिजाइन के बीच चांद और पिया का फोटो बनवाया। मेहंदी एक्सपर्ट शेखर दुबे ने बताया कि करवा चौथ पर मेहंदी लगवाने के लिए खासी भीड़ रही। इस बार लेडीज ने हाथ पर करवा चौथ का सीन भी बनवाया है।

कॉलोनियों में होगा सेलिब्रेशन
करवा चौथ को लेकर हर जगह विशेष प्लानिंग हो गई है। कॉलोनी में जहां एक साथ सेलिब्रेशन होगा, वहीं उमा घाट में सामूहिक करवा चौथ मनाया गया जाएगा। कुछ लोग फ्रेंड्स किटी या रेस्टॉरेंट में करवा चौथ सेलिब्रेट करेंगे।

खूब हुई खरीदारी
सोलह शृंगार के सामान से लेकर कपड़े, पूजा थाल, करवा की खरीदारी की। गंजीपुरा, बड़ा फुहारा, सदर, गढ़ा, गोरखपुर जैसे मुख्य क्षेत्रों में दिनभर रौनक रही।

ट्रेडिशनल ड्रेस में दिखेंगी खूबसूरत
हर साल करवा चौथ का बेसब्री से इंतजार होता है, क्योंकि यह पर्व हसबैंड-वाइफ के रिश्ते में और मिठास घोलता है। यह कहना है साक्षी सलूजा का। साक्षी ने हर बार की तरह इस साल ही स्पेशल टे्रडिशनल ड्रेस बनवाई है। तकरीबन तेइस हजार की कीमत वाली यह डे्रस स्पेशली करवा चौथ के लिए बनवाई है।

होने वाले लाइफ पार्टनर के लिए
रशमीत कौर खनूजा की मैरिज 4 दिसम्बर को होने जा रही है। इससे पहले करवा चौथ आ रहा है। इस मौके पर न गंवाते हुए उन्होंने भी होने वाले लाइफ पार्टनर के लिए करवा चौथ का व्रत रखने का मन बनाया है। इसके लिए उन्होंने खासी तैयारी भी की है। इंडोवेस्टर्न ड्रेस करवा चौथ सेलिब्रेशन का मजा और बढ़ा देगा।

पहले करवा चौथ की खुशी
अभिरुचि चतुर्वेदी ने बताया कि इस बार उनका पहला करवा चौथ है। इसके लिए वे खासी एक्साइटेड हैं। खास बात यह है कि उनकी सास भी पहली बार ही करवा चौथ कर रही हैं। अभिरुचि ने करवाचौथ को लेकर ढेरों तैयार की हैं। इस तैयारी में उनकी मदद उनके हसबैंड भी कर रहे हैं। सास की ओर गिफ्ट भी मिला है।

चंद्रमा को अघ्र्य देकर करेंगी अटल सुहाग की कामना
कार्तिक कृष्ण पक्ष चतुर्थी पर बुधवार को सुहागिनें अटल सुहाग की रक्षा के लिए निराजल व्रत रहकर चन्द्रमा को अघ्र्य देंगी। ज्योतिविर्विदों के अनुसार करवा चौथ व्रत का प्रमाण शास्त्रों में मिलता है। मां पार्वती और द्रोपदी ने भी करवा चौथ व्रत में उपासना की थी। ज्योतिर्विद डॉ. चन्द्रशेखर शास्त्री के अनुसार करवा चौथ को गणेश चौथ व्रत भी कहा जाता है। गणेश भगवान ने चन्द्रमा को वरदान दिया था कि इस तिथि में व्रत उपासना करने वाली सुहागिनों को अखंड सौभाग्य की प्राप्ति होगी। कन्याएं भी गौरी पूजन करती हैं। व्रत में चन्द्रमा, भगवान गणेश, शिव-पार्वती और कार्तिकेय की पूजा की जाती है। शास्त्रों के अनुसार देवी पार्वती ने करवा चौथ व्रत कर महादेव को पति रूप में प्राप्त किया। वनवास के दौरान एक बार अर्जुन इन्द्रनील पर्वत की ओर चले गए थे। वे काफी दिन नहीं लौटे तो भगवान कृष्ण की सलाह पर द्रोपदी ने करवा चौथ व्रत किया।

करवाचौथ पर कविता
करवा चौथ है अपनत्व के व्यवहार का रिश्ता,पति-पत्नी में है सद्भाव के इजहार का रिश्ता।
करवा चौथ का मतलब समझदारी, समर्पण है,प्रणय की नींव पर निर्मित सुदृढ़ आधार का रिश्ता।
जुड़ा उपवास, करवा, अघ्र्य, छलनी और चांद से, करवा चौथ संयम से मधुर मनुहार का रिश्ता।
सतत सहयोग में उत्तर छिपे हैं सब सवालों के, करवा चौथ का आशय परस्पर प्यार का रिश्ता।
करें कोशिश समझने की तो ये ही सार निकलेगा,करवा चौथ है विश्वास के विस्तार का रिश्ता।
-अजहर हाशमी

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!

Latest Videos from Patrika

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???