Patrika Hindi News

अपना ज़मीर बेचकर मुख्यमंत्री बने हैं रघुवर दासः झाविमो

Updated: IST Raghubar das, raghuvar das, jharkhand CM, CM secur
झाविमो केन्द्रीय महासचिव खालीद खलील ने सीएम के बयान पर हमला बोलते हुए कहा की सीएम रघुवर दास अंहकार, सत्ताभोगी और असंवेदनशील हो गये हैं...

कोडरमा। झारखंड में एकबार फिर सियासत गर्म हो चली है। भाजपा-झाविमो के बीच बयान बाजी नें राजनीतिक तापमान उमस भरी गर्मी के बाबजूद और बढ़ा दी है। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष के बाद सीएम रघुवर दास का बयान कि अस्तित्वविहीन नेता है बाबूलाल मरांडी और 18 मई को आयोजित राज्यव्यापी चक्का जाम के लिए दूसरे दलों के सहयोग लेने के लिए गुहार लगा रहे जेवीएम अपने बलबूते कुछ भी करने कि स्थिति में नहीं है।

सीएम के बयान पर झाविमों नें कड़ा विरोध दर्ज किया है। झाविमो केन्द्रीय महासचिव खालीद खलील ने सीएम के बयान पर हमला बोलते हुए कहा की सीएम रघुवर दास अंहकार, सत्ताभोगी और असंवेदनशील हो गये हैं। सीएम के क्रियाकलाप से भाजपा के अंदर ही विद्रोह कि स्थिति उत्पन्न हो गई है। पार्टी स्तर पर रघुवर दास को मुख्यमंत्री से हटाने की मांग तुल पकड़ चुकी है।

वहीं कार्यकर्ताओं व नेताओं की नाराजगी के कारण दिल्ली से कभी भी रघुवर दास को सीएम से हटाने के प्रस्ताव पर मुहर लग जायेगी। केन्दीय महासचिव खालीद खलील ने कहा की प्रदेश अध्यक्ष मरांडी जी को भाजपा में शामिल कराने की बात करते है। वहीं दूसरी तरफ सीएम बाबूलाल मरांडी को अस्तित्वविहीन नेता बतातें हैं।

इसका मतलब साफ है कि प्रदेश अध्यक्ष श्री गिलुवा और सीएम रघुवर दास के बीच मतभेद उभर कर सामने आ चुका है। भाजपा अपनी पार्टी को गर्त में जाने से बचाने के लिए चिंता करें। जेवीएम के 6 विधायकों को खरीद कर मंत्री, बोर्ड का लालच देकर सीएम रघुवर दास जमीर बेच चुके है। सीएम रघुवर दास पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी के चेहरे के बल पर जीतकर आने वालें 6 विधायको को लोकतंत्र की हत्या कर अपने पाले में रखे हुए है।

भाजपा के लोगों को समय पर जनता सबक सीखायेगी। झाविमो नेता नें कहा की पूंजीपतियों व कॉरपोरेट घरानों के बल पर अंहकारी, बड़बोलापन और हिटलरशाही का ताज पहन कर बैठे सीएम रघुवर दास झाविमों सुप्रिमों बाबूलाल मरांडी के आंदोलन सें डर गये है। झाविमों का चक्का जाम रघुवर सरकार की पोल खोल देगी।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???