Patrika Hindi News

96 प्रधानाध्यापकों के खिलाफ विभागीय कार्रवाई, हो सकते हैं सस्पेंड

Updated: IST suspended
96 प्रधानाध्यापकों के खिलाफ विभागीय कार्रवाई की अनुशंसा की थी। इसके बाद विभागीय कार्रवाई संचालित करने की प्रक्रिया शुरू कर दी गयी है।

जमुई/भागलपुर। मध्याह्न भोजन में अनियमितता के मामले में 96 प्रधानाध्यापकों के खिलाफ विभागीय कार्रवाई की प्रक्रिया शुरू कर दी गयी है। ऐसे विद्यालयों के प्रधानाध्यापकों को सस्पेंड भी किया जा सकता है। उनकी इंक्रीमेंट भी रोकी जा सकती है। डीपीओ मध्याह्न भोजन की अनुशंसा पर डीपीओ स्थापना ने प्रधानाध्यापकों के खिलाफ विभागीय कार्रवाई संचालित करने की प्रक्रिया शुरू कर दी है।

संख्या से अधिक छात्रों की उपस्थिति

डीपीओ मध्याह्न भोजन द्वारा विद्यालयों के निरीक्षण के दौरान अनियमितता पायी गई थी। स्कूलों में छात्र संख्या से अधिक उपस्थिति दिखा कर सरकारी खजाने को चपत लगायी जा रही थी। राशि वसूली के लिए प्रधानाध्यापकों को प्रतिवेदन भी दिया गया था।

दर्जनों स्कूलों की ओर से राशि भी जमा करवायी गयी है, जबकि कुछ स्कूलों ने अभी तक पैसे जमा नहीं करवाए हैं। इसकी समीक्षा के बाद डीपीओ मध्याह्न भोजन ने कार्रवाई की अनुशंसा की थी। डीपीओ के निरीक्षण के बाद स्कूलों में मध्याह्न भोजन के नाम पर हो रही लूट-खसूट की पोल खुल गई।

डीपीओ मध्याह्न भोजन के प्रतिवेदन के बाद दर्जनों स्कूलों ने राशि जमा भी करवा दी। यानी स्कूलों ने पैसे वापस कर अनियमितता की बात खुद कबूल कर ली। मध्याह्न भोजन के निरीक्षण में अनियमितता उजागर होने के बाद स्कूलों में यह
गतिविधि बंद हो गयी या अभी भी जारी है। इसकी भी जांच की जाएगी।

प्रधानाध्यापक होंगे दंडित

डीपीओ स्थापना संजय कुमार ने बताया कि डीपीओ मध्याह्न भोजन ने निरीक्षण के दौरान अनियमितता पाए जाने के बाद 96 प्रधानाध्यापकों के खिलाफ विभागीय कार्रवाई की अनुशंसा की थी। इसके बाद विभागीय कार्रवाई संचालित करने की प्रक्रिया शुरू कर दी गयी है।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???