Patrika Hindi News

नागरिकों का ऐलान, नहीं खुलने देंगे शराब की दुुकान

Updated: IST Citizens announced, will not open the wine shop
नवीन वित्तीय वर्ष एक अप्रैल से वार्ड नंबर 10 अखरा भांठा में शराब दुकान प्रारंभ करने की तैयारी की जा रही थी

सक्ती. नवीन वित्तीय वर्ष एक अप्रैल से वार्ड नंबर 10 अखरा भांठा में शराब दुकान प्रारंभ करने की तैयारी की जा रही थी, जिसकी जानकारी होते ही क्षेत्र के नागरिकों ने सक्ती

एसडीएम को ज्ञापन सौंपकर शराब दुकान नहीं खोलने की बात कही। ज्ञात हो कि वार्ड क्रमांक एक स्थित देसी शराब दुकान का स्थल बदलकर वार्ड क्रमांक 10 अखराभांठा में स्थानांतरित किया जा रहा था।

इस पर मोहल्लेवासियों ने आपत्ति दर्ज कराते हुए अखराभांठा में किसी भी तरह की शराब दुकान नहीं खोलने की मांग की।

एसडीएम को सौंपे गए ज्ञापन में नागरिकों ने बताया कि अगर वार्ड क्रमांक 10 में शराब दुकान खोली जाएगी तो वार्डवासी आंदोलन के लिए बाध्य होंगे। नागरिकों का कहना है कि वार्ड पूर्णता आवासीय क्षेत्र है।

साथ ही इसी वार्ड में एवं इससे लगे हुए वार्ड में शैक्षणिक संस्थान हैं, जिस में सरस्वती शिशु मंदिर, जेव्हीडीव्ही हायर सेकेंडरी स्कूल, अनुनय कान्वेंट हायर सेकेंडरी स्कूल स्थित है।

इन स्कूलों में हजारों की संख्या में छात्र-छात्राएं अध्ययनरत हैं। वहीं वार्ड में शराब दुकान खोलने से यहां निवास कर रहे नागरिकों खासकर महिलाओं व बच्चों को परेशानी का सामना करना पड़ेगा।

इस अवसर पर मुकेश अग्रवाल डीएम, नरेश साहू, परमानंद साहू, परमेश्वर साहू, त्रिलोकचंद जयसवाल, गिरधर जयसवाल, लव सोनी, गीता गबेल उपस्थित थे।

साथ ही शैक्षणिक संस्थानों जेबीडीएव्ही हायर सेकेंडरी स्कूल, सरस्वती शिशु मंदिर, अनुनय कान्वेंट के प्राचार्यों ने एसडीएम को ज्ञापन सौंपकर शराब दुकान नहीं खोलने की मांग की है।

नपा अध्यक्ष एवं पार्षदों का मिला सहयोग

लंबे समय बाद किसी समाजिक बुराई का विरोध दमदारी से होते दिखाई दिया। वार्ड में शराब दुकान खोलने के विरोध में जहां पूरा मोहल्ला एकजुट दिखाई दिया,

वहीं इस प्रदर्शन में नगरपालिका अध्यक्ष श्याम सुंदर अग्रवाल, पार्षद फागूराम देवांगन, चंद्र कुमार देवांगन ने भी अपनी सहमति दी एवं सभी ने अलग-अलग एसडीएम को ज्ञापन सौंपकर विरोध जताया है।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं? निःशुल्क रजिस्टर करें ! - BharatMatrimony
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???