Patrika Hindi News

> > > > Fluctuations in weather adverse impact on health

मौसम में उतार-चढ़ाव से स्वास्थ्य पर विपरित असर

Updated: IST Fluctuations in weather adverse impact on health
पश्चिमी विक्षोभ चक्रवात की वजह से मौसम का मिजाज बदल रहा है। इससे तापमान में बढ़ोतरी की संभावना व्यक्त की जा रही है।

जांजगीर-चांपा. पश्चिमी विक्षोभ चक्रवात की वजह से मौसम का मिजाज बदल रहा है। इससे तापमान में बढ़ोतरी की संभावना व्यक्त की जा रही है।

मौसम में हो रहे इस उतार-चढ़ाव से लोगों के स्वास्थ्य पर विपरित असर पड़ रहा है, जिसका असर लगभग सप्ताह भर तक रहेगा। हालांकि इससे ठंड में कमी होने की बात कही जा रही है।

मौसम वैज्ञानिकों के अनुसार बंगाल की खाड़ी में चक्रवात सक्रिय है। साथ ही समुद्री हवाओं से आने वाली नमी की वजह से बादल छाए हुए हैं। इसका असर पांच-छह दिसंबर तक रहेगा। तापमान में उतार-चढ़ाव की स्थिति भी बनी हुई है।

मंगलवार तथा बुधवार को न्यूनतम तापमान 14 और अधिकतम तापमान 28 डिग्री सेल्सियस दर्ज की गई। वहीं सोमवार को न्यूनतम तापमान 12 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया और अधिकतम तापमान २७ डिग्री रहा। मौसम में उतार-चढ़ाव के कारण आगामी दिनों में ठंड का असर कम होने की संभावना व्यक्त की गई है।

बताया जा रहा है कि न्यूनतम तापमान बढ़कर १६ डिग्री रहने तथा अधिकतम तापमान ३० डिग्री तक पहुंच सकती है। तापमान में उतार-चढ़ाव के कारण लोगों को सर्दी-जुकाम के साथ फीवर की शिकायत हो रही है।

रात में ठंड का होगा अहसास

पश्चिम बंगाल में बनी विक्षोभ से मौसम में बदलाव हो रहा है। इससे पांच-छह दिसंबर तक तापमान में बढ़ोतरी होगी। वहीं रात के समय लोगों को ठंड का अहसास होगी। वर्तमान में उत्तरी हवाओं के कारण बढ़ी ठंड से लोगों को कुछ समय के लिए राहत मिलेगी।

दिसंबर में पड़ सकती है शीतलहर

मौसम विभाग से मिली जानकारी के अनुसार दिसंबर में शीतलहर की स्थिति बनने की संभावना है। दरअसल दिसंबर में न्यूनतम तापमान 10-12 डिग्री तक रहता है।

वहीं न्यूनतम तापमान के औसत से तापमान गिरने पर शीतलहर की स्थिति बनती है। बताया गया कि दिसंबर-जनवरी में तीन से चार बार शीतलहर की स्थिति बन जाती है।

अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!

Latest Videos from Patrika

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???