Patrika Hindi News

आवारा मवेशी बन रहे खतरा, गौ रक्षक बने अंजान

Updated: IST Cow protection gang not aware
नगर पालिका और निगम या पंचायत कोई भी प्रशासन आवारा मवेशियों को रोकने के लिए कोई कदम नहीं उठा रहा है। इससे मवेशी हाईवे व आम सड़कों पर रात में बैठे रहते हैं और दुर्घटना का शिकार होते हैं।

जांजगीर-चांपा. नगर पालिका और निगम या पंचायत कोई भी प्रशासन आवारा मवेशियों को रोकने के लिए कोई कदम नहीं उठा रहा है। इससे मवेशी हाईवे व आम सड़कों पर रात में बैठे रहते हैं और दुर्घटना का शिकार होते हैं।

बड़े वाहन की चपेट में आने से जहां गायों की जान जा रही है तो वहीं छोटे वाहन से दुर्घटना होने से वाहन चालक भी मौत के मुह में जा रहे हैं।

इसके लिए स्थानीय स्तर पर जिला प्रशासन या स्थानीय प्रशासन को ठोस कार्यवाही करनी चाहिए। ऐसा न होने से लोगों में काफी रोष व्याप्त है। अकलता क्षेत्र की बात की जाए तो बीते एक सप्ताह में यहां एक दर्जन से अधिक आवारा मवेश हाईवा व ट्रेलर की चपेट में आकर मर चुके हैं।

स्थानीय लोगों के मुताबिक ज्यादातर हैवी वाहन पावर प्लांट व कोल वाशरी में लगे हैं। इनमें इतना लोड होता है कि यह ठोस सड़क तक को दब देते हैं तो फिर आदमी और जीव-जंतुओं की मिसाल क्या।

इस क्षेत्र में प्रशासनिक लाचारी के चलते पिछले एक हफ्ते में जहां चार लोगों की सड़क दुर्घटना में जान जा चुकी है तो वहीं लगभग एक दर्जन आवारा मवेशी इन हैवी वाहनों की चपेट में आ चुके हैं।

सबसे अधिक बुरा हाल एनएच 49 का है। यहां पिछले एक सप्ताह में 7-8 गाय भारी वाहनों की चपेट में आ चुकी हैं। लेकिन गौ रक्षा के दावे करने वाले किसी भी राजनीतिक दल के नुमाइंदे इस ओर ध्यान ही नहीं दे रहे हैं।

लोगों को भी होना होगा जागरूक- लोग घरों में दूध का व्यवसाय करने के लिए गाय तो पालते हैं, लेकिन दूध निकाल लेने के बाद या फिर दूध न देने वाले जानवरों को अन्ना कर देते हैं।

यह जानवर कहीं पूरे शहर में बेतरतीब घूमते हैं और दिन या रात बारिश में कीचड़ से बचने के लिए सड़क के बीचो-बीच बैठ जाते हैं। ऐसे में वाहन चालकों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ाता है और कई बार दो पहिया या कार चालक इनसे टकराकर मौत के मुंह में भा जा चुके हैं।

ज्ञापन सौंपकर सुझाव देने की बात- जोगी कांग्रेस के गौ रक्षा प्रकोष्ठ के अध्यक्ष गिरधारी यादव ने बताया कि वह इस विषय को लेकर चिंतित हैं।

रतनपुर रोड में १३ गाय और अकलतरा में १२-१५ गाय हैवी वाहन की चपेट में आने से मर चुकी हैं। वह इस संबंध में कलेक्टर को ज्ञापन सौंपकर गौ रक्षा के इस विषय पर न सिर्फ अपने सुझाव देंगे, बल्कि एक ठोस योजना तैयार करने चर्चा भी करेंगे।

यह भी पढ़े :
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मॅट्रिमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???