Patrika Hindi News

अब छजकां ने धान खरीदी समितियों के निगरानी का लिया निर्णय

Updated: IST Getting the list of members
भाजपा सरकार द्वारा जहां किसानों के साथ 21 सौ रुपए धान खरीदी व 300 रुपए बोनस पर धोखा किया गया, वहीं हर बार की तरह धान खरीदी केंद्रो में किसानों को परेशान किया जा रहा है।

जांजगीर-चांपा. छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस जोगी पार्टी द्वारा धान खरीदी केंद्रों की निगरानी का निर्णय लिया गया है। इसके लिए समितिववार प्रभारियों की सूची बनाई जा रही है। प्रत्येक धान खरीदी केंद्रों में निगरानी समिति के सदस्य गुलाबी गमछे में तैनात रहेंगे। पार्टी के लोकसभा डॉ. चंद्रिका साहू ने बताया कि हर एक केंद्र में 10 कार्यकर्ता तैनात होंगे।

छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस जोगी के सिपाही लोकसभा के अंतर्गत प्रत्येक धान खरीदी केंद्रों में निगरानी करेंगे। उन्होने बताया कि छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस के प्रमुख अजीत जोगी के निर्देश पर किसानों को सहायता पहुंचाने व उनके उपज का सही दाम दिलाने धान तौलाई से लेकर बारदाना व्यवस्था, बैंको से राशि भुगतान व खरीदी केंद्रो में आने वाली सभी परेशानियों के समाधान के लिए धान खरीदी केंद्रो में 10-10 कार्यकर्ताओं की निगरानी समिति बनाई गई है।

लोकसभा प्रभारी डॉ. साहू ने बताया कि जांजगीर-चांपा जिला व गठित संगठन जिला सक्ति के अंतर्गत प्रत्येक धान खरीदी केंद्रो में निगरानी समिति तैनात करने की जिम्मेदारी जिला समन्वय समिति सदस्य गिरधारी यादव, गीतांजली पटेल, रघुवीर सिंह, दीपकपाल, चंद्रकुमार सोनी, रतन गौरहा को दी गई है। कसडोल-बिलाईगढ़ विधानसभा क्षेत्र में तरूण खटकर, राजा अग्रवाल, दिलीप लहरे, लेखराम साहू को जिम्मेदारी सौंपी गई है।

भाजपा सरकार द्वारा जहां किसानों के साथ 21 सौ रुपए धान खरीदी व 300 रुपए बोनस पर धोखा किया गया, वहीं हर बार की तरह धान खरीदी केंद्रो में किसानों को परेशान किया जा रहा है। साथ ही भाजपा द्वारा बिना तैयारी के की गई नोट बंदी से भी किसानों को उनके धान का भुगतान करने में समस्या हो रही है। इन्हीं सभी समस्याओं को देखते हुए किसान हित में छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस जोगी द्वारा प्रत्येक धान खरीदी केंद्रों में निगरानी समिति के सदस्य गुलाबी गमछे में तैनात रहेंगे। किसानों को होने वाली परेशानी से तत्काल प्रशासन को अवगत कराया जाएगा।

अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???