Patrika Hindi News

> > > > janjgir : Repeatedly extended the time for promotion, now will encompass providing counseling

पदोन्नति के लिए बार बार बढ़ा रहे समय, अब काउन्सलिंग कराने होगा धरना

Updated: IST now will encompass providing counseling
अकलतरा वि.ख.के शिक्षाकर्मी राजकिशोर धिरही ने सम्बंधित अधिकारियो को सात दिवस में काउंसलिंग कराने अनुरोध के साथ अल्टीमेटम दिया है। ग्यारह वर्षो में उन्हें पदोन्नति नही मिली है।

जांजगीर-चांपा. शासन के आदेशानुसार शिक्षक पंचायत संवर्ग की पदोन्नति कुछ माह पहले हो जाना था पर इस जिले में पदोन्नति के जानकर की कमी है। इसके कारण पदोन्नति नही हो पा रहा है। इससे क्षुब्ध शिक्षक ने आन्दोलन का निर्णय लिया है। अधिकारियो के मनमानी के वजह से पदोन्नति की कार्यवाही लटकी हुई है।शिक्षको की कमी होने के बाद भी पदोन्नति रुका है। दुरस्त अंचलो में शिक्षको का आभाव है पर ध्यान कौन दे।वर्ग 02 से वर्ग 01 के लिए प्रमाण पत्रो का सत्यापन हुए माह भर से अधिक समय हो गया।जिससे पात्र शिक्षक पंचायत संवर्ग में रोष है।

अकलतरा वि.ख.के शिक्षाकर्मी राजकिशोर धिरही ने सम्बंधित अधिकारियो को सात दिवस में काउंसलिंग कराने अनुरोध के साथ अल्टीमेटम दिया है। ग्यारह वर्षो में उन्हें पदोन्नति नही मिली है।पांच विषयो में स्नाकोत्तर डिग्री होने के बाद भी वे पदोन्नति से वंचित है वर्तमान सूची में उनका नाम इतिहास में पहले नम्बर पर है। ऐसा नही होने पर वे कचहरी चौक जांजगीर में 29 सितम्बर से धरने पर बैठेंगे। शिक्षाकर्मी वर्ग 03 से 02 में पदोन्नति को लेकर दावा आपत्ती मँगाए माह भर हो गया है। इस पर भी कार्यवाही ठंढे बस्ते में डाल दिया गया है।

पदोन्नति को लेकर बार बार दावा आपत्ति मंगाना समझ से परे है। शिक्षको को समझ नहीं आ रहा की अब वे क्या करे। जानकारी चाहने वालो को चलता कर दिया जाता है। पदोन्नति सहित शिक्षको के विभिन्न मामलो को लेकर शासन द्वारा नीति भी बनाई गई है लेकिन समय सीमा का औचित्य समझ नही आ रहा है।अन्य जिलो में कार्यवाही जारी है और यहां के अधिकारी सुस्त पड़ गए है। इससे शिक्षको का आक्रोश बढ़ते जा रहा है। एक शिक्षक ने तो मोर्चा खोल ही दिया है। इस आन्दोलन से अन्य शिक्षको के भी जुड़ने की सम्भावना है जिससे प्रशासन के सामने समस्या खड़ी हो सकती है।

अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे