Patrika Hindi News

परसदा मे नहीं बन पाया खेल मैदान

Updated: IST Prsada has not in the playing field
गौरतलब है कि शासन जहां स्कूलों के माहौल को मांडल स्कूलों की तर्ज पर विकसित करने पर जोर दे रही है साथ ही पंचायतों को इसके लिए पर्याप्त मद देकर कार्य प्रस्ताव बना कर कार्य करने के निर्देश दिए जाते हैं, लेकिन विडम्बना है कि हमारे जिले व ब्लाक के अधिकारी शासन के इन आदेशों की धज्जियां उड़ाते नजर आ रहे हैं।

जांजगीर-चांपा. गौरतलब है कि शासन जहां स्कूलों के माहौल को मांडल स्कूलों की तर्ज पर विकसित करने पर जोर दे रही है साथ ही पंचायतों को इसके लिए पर्याप्त मद देकर कार्य प्रस्ताव बना कर कार्य करने के निर्देश दिए जाते हैं, लेकिन विडम्बना है कि हमारे जिले व ब्लाक के अधिकारी शासन के इन आदेशों की धज्जियां उड़ाते नजर आ रहे हैं। ताजा मामला अकलतरा विकासखण्ड के परसदा गांव के स्कूल का है जहां प्राथमिक व पूर्व माध्यमिक शाला संचालित होती है लेकिन इन दोनों शालाओं के भवन को परसदा के खेत में ही बना दिया गया है। खेल मैदान के अभाव में बच्चों को खेलना तो दूर स्कूल तक पहुंचना ही मुश्किल हो जाता है। साथ ही बरसात के दिनों में स्थिति और भी खराब होती है जहां इस संबंध मे स्थानीय पंचायत की उदासीनता से व मैदान नहीं होने से बच्चों को खेल प्रदर्शन का मौका नही मिल पा रहा है, वहीं प्रशासन व्दारा उपेक्षित होने का दंश भी परसदा गांव को भुगतना पड़ रहा है। ज्ञात हो कि अकलतरा ब्लाक का यह गांव मुड़पाड़ पंचायत के अधिनस्थ है जहां मुड़पाड़ के स्कूल मे साफ -सुथरा खेल मैदान व स्कूल संचालित है वहीं परसदा मे खेल मैदान नहीं होने से बच्चों का सर्वांगीण विकास नहीं हो पा रहा है जो चिन्ता का विषय है।

अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???