Patrika Hindi News

बिकने से बच गई सरकारी पुस्तकें

Updated: IST Survived by selling government books
जिले के पामगढ़ क्षेत्र के ग्राम भैसों में सरकारी पुस्तकों की अफरा-तफरी का मामला अभी ठंडा भी नहीं पड़ा था

जांजगीर-चांपा/बम्हनीडीह. जिले के पामगढ़ क्षेत्र के ग्राम भैसों में सरकारी पुस्तकों की अफरा-तफरी का मामला अभी ठंडा भी नहीं पड़ा था

कि अब बम्हनीडीह विकासखंड अंतर्गत ग्राम पंचायत कपिस्दा में संचालित पूर्व माध्यमिक शाला को प्राप्त शासकीय पुस्तकों की अफरा-तफरी का मामला सामने आ गया।

यहां पदस्थ प्रधानपाठक शासन से प्राप्त पुस्तकों को बच्चों को वितरण करने के बजाय चांपा के एक कबाड़ी के पास बिक्री करने के लिए ऑटो में भरकर ले जा रहे थे, लेकिन ग्रामीणों की सजगता से पुस्तकें बिकने से बच गई।

बम्हनीडीह विकासखण्ड के ग्राम कपिस्दा में पूर्व माध्यमिक शाला संचालित है, जहां अध्ययनरत छात्रों को बांटने के लिए शासन स्तर से पुस्तकें प्राप्त हुई थी, जिसे छात्रों को वितरण करने के बजाय प्रधानपाठक कृष्णकुमार कश्यप मंगलवार को एक ऑटो में भरकर बिक्री करने के लिए चांपा ले जा रहा था।

ग्राम पोड़ीशंकर के कुछ ग्रामीणों की नजर ऑटो में रखी पुस्तकों पर पड़ी तो उन्होंने ऑटो चालक से पूछताछ की। ऑटो चालक ने बताया कि वह पुस्तकों को चांपा लेकर जा रहा है।

ऑटो में दस बड़ी बोरियों में मीडिल कक्षाओं की सरकारी पुस्तकें मिली। इसकी भनक लगते ही ऑटो के पीछे-पीछे बाइक पर चल रहा प्रधानपाठक कश्यप वहां से भाग निकला। ग्रामीणों ने मामले की सूचना शिक्षा विभाग के अधिकारियों को दी है।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ?भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???