Patrika Hindi News

> > > > jashpur: Electrification of schools failing millions

स्कूलों में करोड़ों का विद्युतीकरण फेल

Updated: IST Electrification
शासकीय स्कूलों में बिजली की बदहाली का पड़ताल जिले के विधायक आदर्श ग्राम से शुरू किया गया है।

जशपुरनगर. शासकीय स्कूलों में निजी स्कूलों की तरह व्यवस्था और संसाधन देने की मंशा से प्रदेश सरकार ने कई योजनाएं बनाई और उनमें करोड़ों रुपए फूंका गया। योजना बनने के बाद शासकीय कोष से भारी-भरकम राशि जिले में संबंधित विभाग को आवंटित कर दी गई। आवंटन के बाद चहेते ठेकेदारों के जरिए करोड़ों का काम कराया गया और कागजों में सफल बताकर वाह-वाही बटोर ली गई। जबकि जिले की इस वाह-वाही के पीछे की जमीनी हकीकत कुछ और ही बयां करती है। दरअसल शासन ने शासकीय स्कूल की दशा सुधारने के लिए सभी स्कूलों के दफ्तरों से लेकर कक्षाओं तक विद्युतीकरण करने की योजना बनाई और अलग-अलग मदों से राशि आवंटित कर काम कराया गया, लेकिन इस योजना की विडंबना यह कि जशपुर जिले के ऐसे सैकड़ों स्कूल उक्त योजना की बदहाली की कहानी बयां कर रहे हैं। शासकीय स्कूलों में बिजली की बदहाली का पड़ताल जिले के विधायक आदर्श ग्राम से शुरू किया गया है।

सरगुजा विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष व जशपुर विधानसभा क्षेत्र से विधायक राजशरण भगत के द्वारा गोद लिया गया मनोरा विकासखंड के ग्राम ढेंगनी के स्कूल में बिजली की हालत दयनीय है। यहां विद्युतीकरण के तहत तार, बोर्ड, बल्ब आदि के साथ ही बिजली जलाने के सारे उपकरण लगाए गए, लेकिन वह सभी ग्रामीणों के लिए शासकीय प्रदर्शनी साबित हुई। स्कूल में बिना बिजली के ही उपकरण लगा दिया गया। यहां उपकरण लगने के बाद कभी बिजली जली ही नहीं। धीरे-धीरे सारे उपरकरणों की चोरी कर ली गई। वर्तमान में यहां बिजली के उपकरण होने की निशानी मात्र बची है।

बिजली की हालत भी दयनीय, रहती है गुल

विधायक आदर्श ग्राम में निवासरत् ग्रामीणों ने बताया कि यहां बिजली रहती ही नहीं है। अंधेरे में जीवन यापन करना पड़ रहा है। बिजली के खंभे तो लगे हैं, लेकिन बिजली नहीं रहती है। विभाग में शिकायत करने के बाद भी समस्या का निराकरण नहीं किया जाता है। विधायक द्वारा गोद लेने के दौरान भी शिकायत की गई, फिर भी कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है।

खेल मैदान भी अधूरा

ढेंगनी स्कूल के प्राचार्य भगत ने बताया कि स्कूल के खेल मैदान में मुरूम फैला हुआ है। यहां कोई भी खेल का अभ्यास कर पाना संभव नहीं है। मुरूम हटाकर उसमें मिट्टी डालने के बाद खेलने के लायक बनाया जा सकता है। मैदान की मरम्मत के लिए सरगुजा प्राधिकरण के उपाध्यक्ष से और जिला प्रशासन से मांग की जा चुकी है, लेकिन कोई ध्यान नहीं दिया गया है।

बिजली के बिना उपकरणों की बर्बादी

विधायक आदर्श ग्राम ढेंगनी की पत्रिका की ओर से पड़ताल के दौरान यह स्थिति सामने आई कि हाई, मिडिल और प्राइमरी स्कूलों के सभी कक्षाओं में विद्युतीकरण के कार्य के अनुसार सभी उपकरण लगाए गए हैं। उपकरण लगाकर उसे छोड़ दिया गया, पर कभी उसका उपयोग नहीं हो सका। बिजली के बिना यहां बिजली उपकरण लगाकर भरपूर बर्बादी की गई। पड़ताल के दौरान संस्था में वर्ष 2007 से पदस्थ प्राचार्य एसआर भगत ने बताया कि यहां बिजली आती ही नहीं है। उच्च अधिकारियों के फरमान के मुताबिक विद्युतीकरण का कार्य पूरा हो गया। बिजली को छोड़कर सभी उपकरण लग गए। स्कूल भवन में वर्तमान में एक भी विद्युत उपकरण सही सलामत नहीं बचे। स्कूल के बच्चों ने ही उपकरणों को पार कर दिया।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!

Latest Videos from Patrika

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???