Patrika Hindi News

बादलखोल अभ्यारण पहुंचा हाथियों का दल

Updated: IST Team of elephants reaching the cloud home
30 से 40 हाथियों का दल पहुंचा, खेतों मे लगे धान बीडा, कटहल को बना रहे हैं अपना आहार

साहीडांड़. बरसात शुरू होते ही जंगली हाथियों के 30 से 40 की संख्या वाले दल ने बगीचा विकासखण्ड के साहीडांड़ क्षेत्र में स्थित बादलखोल अभ्यारण आ पहुंचा है और हाथियों का यह झुण्ड खेतों मे लगे धान बीजा, कटहल को अपना आहार बना रहे हैं।

बगीचा विकास खंड के ग्राम पंचायत मैनी में बीते रात 30 से 40 जंगली हाथियों का दल आ धमका और बालकेश्वर गुप्ता के खेत मे लगे लगभग 10 एकड़ में लगाने के लिए लगाए गए धान बीजा के थरहा जिसको बियड़ भी कहते हैं को हाथियों ने पहले पेट भर कर अपना आहार बनाया आरै फिर पैरों से रौंद दिया और बर्बाद भी कर कर दिया। अब किसान नया थरहा लगाता है तो फसल नही हो पाएगा इस बात को लेकर पीडित किसान चिंता में पड़ा है।

बरसात आते ही आ जाते हैं हाथी : किसानों का कहना है कि गर्मी भर हाथी इस क्षेत्र को छोड़कर चले जाते हैं लेकिन जैसे ही बरसात शुरू होती है हाथियों का दल आ जाता है, जिससे किसानों को खेती करने में डर बना रहता है क्योंकि जंगली हाथी कब और कहां से आ ही जाते हैं। अगर हाथी आने की जानकारी रहती है तो अपनी फसल को किसी तरह बचा ही लेते हैं लेकिन अचानक आ जाने से पता नही चलता ओर जंगली हाथी फसल को बर्बाद कर देते हैं।

वन विभाग नहीं करता कोई तैयारी : हर साल बरसात शुरू होते ही इन क्षेत्रों में हाथियों का आना हो जाता है लेकिन वन विभाग की ओर से कोई तैयारी नही की जाती है। ग्रामीणों का कहना है कि विभाग की ओर से जला मोबिल, फटाके आदि अगर मुहैया करा देता तो शायद किसानों का फसल बर्बाद नही हो पाता। ग्रामीणों की यह भी शिकायत है कि हाथी आने की अगर रात में वन कर्मचारियो को सूचना देने की कोशिश करते हैं, लेकिन किसी का फोन लग पाता है ना ही कोई जवाब मिलता है।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मॅट्रिमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???