Patrika Hindi News

> > > > Cash crisis continue in bank after 23 days of noteban decision

UP Election 2017

नोटबंदी के 23 दिन बाद भी बैंकों में नहीं है कैश, आक्रोशित लोगों का फूटा गुस्सा 

Updated: IST protest
बैंक में लोगों ने जमकर किया हंगामा, सड़क पर भी लगाया जाम

जौनपुर. नोटबंदी के तीन सप्ताह बाद भी बैंक उपभोक्ताओं को पर्याप्त कैश देने में नाकाम साबित हो रहा है। पैसा न मिलने से उपभोक्ताओं का धैर्य टूट जा रहा है। आर्थिक तंगी से परेशान लोग अब सड़कों पर उतरने लगे हैं। ओरियंटल बैंक आफ कामर्स और यूनियन बैंक की खेतासराय शाखा में पैसा न मिलने से नाराज लोगों ने जौनपुर-शाहगंज मार्ग जाम कर दिया। पुलिस के समझा बुझाकर जाम समाप्त कराया।

ओरियंटल बैंक खुलते ही बाहर आरबीआई से कैश न मिलने पर ग्राहकों को पैसा देने की बात लिखकर नोटिस चस्पा कर दिया गया। सुबह से बैंक के बाहर लाइन में खड़े उपभोक्ता नोटिस पढ़कर भड़क उठे और हंगामा करते बैंक के सामने सड़क जाम कर दिये। मौके पर पहुंची पुलिस समझा बुझाकर जाम समाप्त कराया। इधर उपभोक्ता बैंक के बाहर हंगामा कर रहे थे।

उपभोक्ताओं का कहना था कि जब बैंक में पैसा नहीं है तो बैंक किसके लिये खुला है। बैंक बंद करें। उपभोक्ताओं का हंगामा देख प्रबंधक ने अपने उच्चाधिकारियों से बात करने के बाद सवा ग्यारह बजे बैंक बंद कर दिया। उधर खेतासराय कस्बे में यूनियन बैंक की शाखा में दोपहर एक बजे पैसा खत्म होने का फरमान सुना दिया गया। इस पर उपभोक्ता भड़क उठे और बैंक के बाहर सड़क पर आकर जाम लगा दिया। थोड़ी ही देर में जौनपुर-शाहगंज मार्ग पर वाहनों का तांता लग गया। शाहगंज की तरफ किसी रोगी को लेने जा रही 108 नम्बर की एम्बुलेंस भी जाम में फंस गयी। मौके पर पहुंची पुलिस के समझाने और बैंक से दो-दो हजार रुपये देने की बात पर आधा घण्टा बाद जाम समाप्त हुआ।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!

Latest Videos from Patrika

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???