Patrika Hindi News

> > > > intelligence agency intensified checks on youth who lived Overseas

UP Election 2017

युवाओं के आईएसआईएस में शामिल होने की आशंका बढ़ी, खुफिया तंत्र  की चौकसी

Updated: IST investigation
गृहमंत्रालय से मिले निर्देश पर शुरू हुई कार्रवाई

जौनपुर. खुफिया तंत्र अब उन लोगों की जानकारी जुटाने में लगा है जो मुस्लिम देशों में रह कर कामकाज करते हैं। गृहमंत्रालय से मिले निर्देश पर ऐसे लोगों की पूरी सूची तैयार की जा रही है। इसमें खास कर खेतासराय, शाहगंज, केराकत, मड़ियाहूं व जिला मुख्यालय के लोग शामिल हैं। हवाला व आतंकी वारदात से नाम जुड़ने के बाद खुफिया तंत्र खासी चैकसी बरत रहा है।

गृह मंत्रालय ने पत्र जारी कर खुफिया तंत्र को निर्देशित किया है कि जो लोग भी गल्फ देशों में रह कर रोजगार करते हैं, उनकी पूरी जानकारी इकट्ठा की जाए। वे किस गांव के हैं, उम्र क्या है, विदेश में क्या करते हैं, यहां पहले क्या करते थे, पहले कोई अपराध किए हों, कब-कब घर आते हैं, माली हालत कैसी है वगैरह-वगैरह। निर्देश मिलते ही टीम जुट गई है। जिले में औसतन सबसे अधिक व्यक्ति खेतासराय व शाहगंज क्षेत्र से बाहर रहते हैं। इसके अलावा केराकत, जौनपुर के लोग शामिल हैं। तंत्र इन स्थानों पर पहुंच कर परिजनों से गोपनीय जानकारी हासिल कर रहा है। वहां के प्रधान व संभ्रांत लोगों से भी बात कर उनके फोन नंबर लिए जा रहे हैं।

इसलिए इकट्ठा हो रही जानकारी
आतंकी संगठन आईएसआईएस के अस्तित्व में आने व इसमें भारतीय युवाओं के शामिल होने की सूचना से गृह मंत्रालय सशंकित है। विदेशों में रहने वाले खास कर युवाओं को बरगला कर इसमें शामिल किए जाने की आशंका बरकरार है। ऐसे में ये सर्वे काफी मददगार साबित होगा। आतंकी अगर युवओं को शामिल कर भी लें तो यहां उनकी पूरी जानकारी रहेगी। कुछ दिन पूर्व एक आतंकी वारदात में मड़ियाहूं निवासी खालिद मुजाहिद का नाम आने के कारण भी यहां चौकसी बरती जा रही है। हालांकि अब अब उसकी मौत हो चुकी है। करीब दो साल पहले वाराणसी में लखनऊ व वाराणसी टीम ने बड़े हवाला कारोबारियों को गिरफ्तार किया था। इसमें भी जौनपुर के दो लोगों का नाम सामने आया। तब भी खुफिया तंत्र की नजर यहां जम गई थी। नगर कोतवाली व जफराबाद इलाके में ऐसे कारोबारियों के होने की सूचना तंत्र के पास मौजूद है।

लगातार निगाह बनाए रहेगा खुफिया तंत्र
जानकारी इकट्ठा हो जाने के बाद खुफिया तंत्र लगातार सभी पर निगाह बनाए रहेगा। जिन प्रधान व संभ्रांत व्यक्तियों का नंबर मिला है, उनसे विदेश में रहने वालों के बारे में पता करता रहेगा। किसी अप्रिय घटना की सूचना होने पर भी इन लोगों की मदद ली जा सकेगी। उड़ी में हुए आतंकी हमले के बाद से भी तंत्र इस पर तेजी से काम कर रहा है।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!

Latest Videos from Patrika

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???