Patrika Hindi News

सावधान: मौसम में बदलाव बच्चों के लिए खतरा

Updated: IST weather
बच्चों की सेहत बिगड़ने पर जल्द लें डाक्टरों की सलाह

जौनपुर. मौसम में उतार चढ़ाव के साथ बीमारियां भी असर दिखा रही है। खासकर मौसमी बीमारियों से बच्चे ज्यादा प्रभावित हो रहे है। किसी को सर्दी खांसी तो किसी को बुखार व डायरिया की शिकायत हो रही है। चेचक भी पांव पसार रहा है। चिकित्सक मामूली पीड़ितों को जहां दवा लिखकर घर जाने को कह रहे है वहीं गंभीर रोगियों से अस्पताल भरा है।

चिकित्सक कहते हैं कि बच्चों के लिए इस मौसम में जंक फूड दुश्मन है। बच्चों को साफ सुथरे माहौल में रखते हुए सुबह शाम के सर्द मौसम में मोटर साइकिलों पर न घुमायें। बच्चे अच्छा खायेगें तो उनकी सेहत अच्छी रहेगी। बीमारियां उनके पास नही फटकेगी। वायरल इन्फेक्शन सर्दी लगने के बाद निमोनिया हो जाता है। नवजात शिशु निमोनियां के लिए अधिक संवेदनशील होता है। देर तक मालिश न करें ठण्ड में बच्चों को अधिक बाहर निकालना घातक हो सकता है।

बच्चे को सांस लेने में दिक्कत होती है और पसली वलती हो तो तत्काल चिकित्सक से सलाह लें। बच्चों को खाने के लिए जबरन दबाव न बनायें। प्राटीनयुक्त खाद्य पदार्थो का सेवन बढ़ा दे। दाल, पनीर, अण्डा आदि खिलायें। अक्सर बच्चों में विटामिन और मिनरल्स कमी की समस्यायें हो जाती है। इसके लिए बच्चो को हरीसब्जियां व कुछ विटामिनयुक्त सीरप दिया जा सकता है। जिला अस्पताल में बीमारियों से पीड़ितो की भरमार है।

यह भी पढ़े :
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ?भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???