Patrika Hindi News

मशीनों से कराया जा रहा मनरेगा का कार्य, क्षेत्रवासी रोजगार से वंचित

Updated: IST jhabua
कितनी मजदूरी मिलेगी मजदूरों को नहीं पता, नाबालिग भी हैं शामिल

झाबुआ. जिले में पहले से ही रोजगार का काफी अभाव होने से वर्षाकाल समाप्त होते ही गांव-गांव के खाली हो जाते हैं। ग्रामीण रोजगार की तलाश में अन्य प्रदेश चले जाते हैं। जहां उनका शोषण होने के साथ ही वे कई बीमारी के शिकार होते हैं। वहीं कई लोग रोजगार के चक्कर में क्षमता से अधिक सवारियां बैठाने वाले वाहन चालकों की मनमानी से जान गवां चुके हैं तो कई अपाहिज हो चुके हैं।

सरकार ने पलायन रोकने काफी प्रयास किए, लेकिन पलायन करने वालों की संख्या साल दर साल बढ़ती ही जा रही है। जिले में कहीं कोई रोजगार खुलता भी है तो बजाय उसमें मजदूरों से काम करवाने के मशीनों से काम करवा जाता है। इसका उदाहरण देखा जा सकता है ग्राम पंचायत कुशलपुरा में। झाबुआ ब्लॉक की ग्राम पंचायत कुशलपुरा में स्कूल से लगाकर ढाकिया फलिया, बारी होते हुए ग्राम खरड़ू की सीमा तक रोड का निर्माण मनरेगा के तहत किया जा रहा है। रोड का कार्य कर रहे मजदूरों ने बताया कि रोड का काम पिछले 2 माह से चल रहा है। बीच-बीच में काम बंद भी रहा है। यहां पर किए जा रहे कार्य में मजदूरों के साथ ही जेसीबी मशीन का उपयोग किया जा रहा है। गुरुवार को भी यहां पर जेसीबी मशीन से कार्य किया गया, जबकि यही कार्य मजदूरों की संख्या बढ़ाकर पूरे गांव के लोगों को रोजगार मुहैया करवाया जा सकता है, लेकिन जिम्मेदारों द्वारा रोजगार होते हुए भी ग्रामीणों को रोजगार से वंचित रख पलायन को बढ़ावा दिया जा रहा है। जेसीबी से खुदाई करने के साथ सड़क के दोनों ओर नाली खोदने और उससे निकाली गई मिट्टी सड़क पर डालने मात्र 25-30 मजदूर लगाए गए हैं। इनमें आधा दर्जन से अधिक 12 से 14 वर्ष तक के बालक-बालिका भी शामिल हैं। इनमें से अभी तक एक भी मजदूर को उसकी मजदूरी नसीब नहीं हुई।

यहां काम कर रही गुलीबाई ने बताया कि अभी उनकी पगार नहीं मिली है। कितनी पगार मिलेगी इसकी उन्हें जानकारी नहीं है। ललिता ने बताया कि उसे अभी मजदूरी करते हुए पांच ही दिन हुए हैं। बाकी लोगों को भी मजदूरी नहीं दी गई है। मजदूरों ने बताया कि सिर्फ एक मजदूर को अभी तक ढाई हजार रुपए का भुगतान हुआ है। बाकी के लोगों को पगार नहीं मिली। सड़क का निर्माण कौन करवा रहा है पूछने पर ग्रामीणों ने बताया कि ग्राम पंचायत सड़क बनवा रही है। मौके पर न तो ग्राम पंचायत सचिव न ही रोजगार सहायक मौजूद थे। न ही यहां मस्टर रोल व मजदूरों के जॉब कार्ड देखने को मिले।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं? निःशुल्क रजिस्टर करें ! - BharatMatrimony
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???