Patrika Hindi News
UP Election 2017

नोटबंदी में किसानों को आरबीआई ने दी बड़ी राहत, यहां चलेंगे किसानों के 500 के पुराने नोट

Updated: IST Farmer
पारदर्शी किसान योजना में पंजीकृत किसान जिले के सभी राजकीय बीज भंडार केंद्रों से 500 रुपये के पुराने नोटों के माध्यम से बीज खरीद सकते हैं।

झांसी। नोटबंदी के दौर में रिजर्व बैंक आफ इंडिया (आरबीआई) ने किसानों को बड़ी राहत दी है। किसानों के पांच सौ के पुराने नोट राजकीय बीज विक्रय केंद्रों पर फिलहाल चलते रहेंगे। इस संबंध में यहां उप कृषि निदेशक डा. यूपी सिंह जिले के राजकीय बीज भंडार केंद्रों के प्रभारियों को दिशा निर्देश दिए। इसमें उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्र में अधिक से अधिक प्रचार-प्रसार किया जाए कि पारदर्शी किसान योजना में पंजीकृत किसान जिले के सभी राजकीय बीज भंडार केंद्रों से 500 रुपये के पुराने नोटों के माध्यम से बीज खरीद सकते हैं।

प्रतिदिन जमा कराने होंगे बिक्री के रुपये

इस संबंध में सभी गोदाम प्रभारियों को सचेत किया गया कि प्रतिदिन की विक्रय राशि सुसंगत लेखा शीर्षक में अवश्य जमा कराना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि बीज वितरण डीबीटी के माध्यम से ही किया जाए, ताकि अनुदानित राशि सीधे किसान के खाते में हस्तांतरित हो जाए। उन्होंने बताया कि जिले में किसी भी दशा में बीज बचे नहीं रहने चाहिए। उपलब्ध बीज शत-प्रतिशत वितरित कर दिया जाए।
बीज हस्तांतरण के निर्देश उपनिदेशक कृषि ने बैठक में उपस्थित गोदाम प्रभारियों को निर्देश देते हुए कहा कि विकासखंड मोंठ व चिरगांव में कुछ स्थानों पर धान की बुवाई होती है। फसल काटने के बाद देर से खेत खाली हो रहे हैं। ऐसी स्थिति में बुवाई देरी से होगी तो जनपद में यदि किसी बिक्री केंद्र पर बीज अवशेष है तो उन्हें विकासखंड मोंठ व चिरगांव हस्तांतरित कर दें, ताकि बीज वितरण शत-प्रतिशत सुनिश्चित हो सके।

ये भी दिए निर्देश

उप कृषि निदेशक डा.यू.पी सिंह ने केंद्र प्रभारियों को निर्देश दिए कि क्षेत्र में जब भ्रमण किया जाए, तो किसानों को खेत में आग लगाने से होने वाले नुकसान की जानकारी अवश्य दें। साथ ही पर्यावरण को बिगाडऩे के दोषी मानते हुए दंडात्मक कार्रवाई की भी जानकारी किसानों को दी जाए।

ये लोग रहे उपस्थित
इस मौके पर जिला कृषि अधिकारी डा.बी आर मौर्य, एसडीओ मोंठ बबलू कुमार, दीपक कुशवाहा, गोदाम प्रभारी गोविंद राजपूत, सुरेंद्र पाल गुरसरांय व मानवेंद्र सिंह बड़ागांव आदि उपस्थित रहे।

अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???